12 वीं के छात्र का कमाल, कबाड़ से ही बना दिया ई-बाइक, सिंगल चार्ज में 110 किमी का माइलेज देता है

897
12th student shamim made a electric bike with junk

किसी ने सही हीं कहा है कि मेहनत कभी बेकार नहीं जाता है। जी हाँ, अगर सही दिशा में पूरे लगन से अपने मुकाम हासिल करने के लिए मेहनत किया जाए तो एक न एक दिन सफलता जरूर मिलती है। आज हम बात करेंगे 12वीं के एक ऐसे छात्र के बारे में, जिसने अपने मेहनत के बदौलत कबाड़ के समान से सबसे सस्ती ई मोटरसाइकिल बना कर अपने तथा अपने मां-बाप का नाम रौशन किया है।

तो आइए जानते हैं उस छात्र से जुड़ी सभी जानकारियां:-

कौन है वह छात्र?

हम बात कर रहे हैं शमीम (Shamim) के बारे में, जो कि मूल रूप से दिल्ली (Delhi) का रहने वाला है। वह बारहवीं का छात्र है जो कि नंदनगरी बी ब्लाक स्थित भीष्म पितामह सर्वोदय बाल विद्यालय में पढ़ता है। वह एक मेहनती और होनहार छात्र है। वह शुरु से हीं पढ़ने में काफी तेजतर्रार है। उसके पिता एक इन्वर्टर की दुकान पर प्राइवेट नौकरी करते हैं, तथा उसकी मां एक हॉउसवाइफ है। वह चार भाईयों में सबसे छोटा है।

12th student shamim made a electric bike with junk

शुरु से हीं था होनहार

शमीम शुरु से हीं पढ़ने-लिखने में काफी तेजतर्रार था। उसने 10वीं के बाद कामर्स विषय से पढ़ना पसंद किया। हमेशा से हीं स्कूल तथा कॉलेज में छात्र-छात्राओं तथा शिक्षकों के बीच में उसके काबिलियत की चर्चा होते रहता है। भीष्म पितामह सावरेदय बाल विद्यालय के प्रधानाध्यापक प्रमोद कुमार बताते हैं कि शमीम एक मेहनती और होनहार छात्र है, उसके नेक ईरादे से यह लगता है की वह भविष्य में अपने मेहनत और संघर्ष के बदौलत सफलता एक लंबी सीढ़ी चढेगा।

यह भी पढ़ें : ट्री हाउस : इस शख्स ने आम के पेड़ को बिना नुक्सान पहुंचाए बनाया 4 मंजिला घर, दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश

कबाड़ से बनाई ई मोटरसाइकिल

भीष्म पितामह सावरेदय बाल विद्ययलय के 12 वीं में पढ़ने वाले कॉमर्स के छात्र शमीम ने कबाड़ से एक जुगाडू इलेक्ट्रिक बाइक तैयार करके खुद को चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल, युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए दिल्ली सरकार के अपने स्कूलों में बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम शुरू किया गया है, इस प्रोग्राम के तहत प्रतिभाशाली छात्र कई रचनात्मक और अभिनव परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं।

इसी प्रोग्राम के तहत शमीम ने सरकार के तरफ से 16000 रूपये सीड मनी से इस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरु किया है। इसमे उन्होंने सरकार के तरफ से मिलने वाले 16000 रुपये की सीड मनी से कबाड़ के दूकान से पुराना समान खरीदा, इसके बाद उन्होंने इस प्रोजेक्ट पर अपने मित्रों के साथ मिल कर काम करना शुरु किया। इसके बाद उन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिल कर काम करना शुरु किया। परिणाम सक्रात्मक रहा और उन्होंने अपने मेहनत से ई मोटरसाइकिल बना डाली।

12th student shamim made a electric bike with junk

बाजार से सस्ती है कीमत

शमीम के द्वारा बनाए गए ई मोटरसाइकिल आज के समय में चर्चा का विषय बना हुआ है। इसका खास कारण यह है कि यह सस्ता के साथ हीं साथ अच्छा सर्विस भी दे रहा है। अगर लागत की बात करे तो सरकार के तरफ से मिलने वाले 16000 रुपये सीड मनी में उन्होंने 7000 रूपये अपने पास से इन्वेस्ट किए। इसके बाद उन्होनें 23000 के लागत से एक शानदार ई मोटरसाइकिल बना डाला। इस ई मोटरसाइकिल की एक खासियत है कि यह सिंगल चार्ज में 110 किलोमीटर का माईलेज देता है। इसकी कीमत बाजार में उनलोगों ने 30000 रूपये तय किये हैं, जो कि बाजार के अन्य किसी भी ई बाइक से बहुत सस्ता हैं

लोगों के लिए बना प्रेरणा

शमीम के द्वारा बनाई गयी ई मोटरसाइकिल आजकल चर्चा का विषय बना हुआ है। तने कम उम्र में एक बड़ी उप्लब्धि हासिल करना अपने आप में एक बड़ी उपलब्धी है। पढ़ने-लिखने से लेकर वह और भी सभी काम में हमेशा से आगे रहते थे, यही कारण है कि उन्होंने आज के समय में कबाड़ के समान से बहुत कम दाम में एक बड़ी सफलता की लकीर खींचा हैंहै। उनके द्वारा बनाया गग ई मोटरसाइकिल का काफी डिमांग है। चारों तरफ उनकी चर्चा है। उनके इस सफलता की चर्चा जोड़ो पर है।

26 COMMENTS

  1. We’re a bunch of volunteers and opening a brand new scheme in our community. Your website offered us with valuable info to paintings on. You’ve performed an impressive process and our whole group might be thankful to you.

  2. Vidio sex taelan porn tube videos available for free! Also check out fresh HD sex videos
    in 720p and 1080p Bollywood quality porn. We world biggest Desi
    Indian porn site with HQ Vidio sex taelan porn films from thousands porn sites.

  3. As I am looking at your writing, totosite I regret being unable to do outdoor activities due to Corona 19, and I miss my old daily life. If you also miss the daily life of those days, would you please visit my site once? My site is a site where I post about photos and daily life when I was free.

  4. Throughout this grand pattern of things you receive a B- just for effort and hard work. Where you confused me was first on the particulars. As they say, the devil is in the details… And that could not be much more accurate in this article. Having said that, allow me reveal to you just what exactly did work. The article (parts of it) is incredibly persuasive and this is possibly the reason why I am making an effort to comment. I do not really make it a regular habit of doing that. Next, despite the fact that I can certainly see a jumps in reason you make, I am not confident of how you seem to connect the points which inturn help to make the actual final result. For the moment I shall yield to your position however hope in the near future you actually link the facts better.

  5. Definitely believe that which you stated. Your favorite reason appeared to be on the internet the simplest thing to be aware of. I say to you, I certainly get irked while people consider worries that they plainly don’t know about. You managed to hit the nail upon the top and also defined out the whole thing without having side-effects , people could take a signal. Will probably be back to get more. Thanks

  6. B, In transfected HEK293T cells the constitutive VPR construct with and without the SV40 intron induced the endogenous target gene GRM2 by 55 fold and 138 fold compared with the non targeting lacZ control Welch s t test for constitutive t 2 3 clomiphene citrate for women For millenia the existence of hereditary hemorrhagic disorders has been known

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here