सच या झूठ- मरने के 20 मिनट बाद जिंदा होने वाले शख्स से जानिए, मरने के बाद कि सच्चाई।

1146
man who shared the real story of after death

हमेशा से हम सब के मन मे इस बात को जानने की जिज्ञासा रही है कि आखिर इंसान की मर्त्यु के बाद उसके साथ क्या होता है, ऐसे तो हमारे धार्मिक ग्रंथों में इससे जुड़े बहुत सारे जवाब है परन्तु इन बातों का हमारे पास कोई प्रमाण नही है, ना ही वैज्ञानिकों ने इस बात का कोई प्रमाण दिया है कि मरने के बाद इंसानों के साथ क्या होता है, ये भी सत्य है की इस बात का सटीक जवाब वही इंसान दे सकता है जो मरने के बाद जीवित हुआ है, परन्तु क्या ऐसा संभव है? आज हम आपको ऐसे इंसान के बारे में बताएंगे जिन्होंने इस बात का दावा किया है कि वो जानते है कि मरने के बाद इंसानों के साथ क्या होता है, तो आइए जानते है इस शख्श के बारे में।

मरने के बाद क्या होता है?

स्कॉट कहते है कि मैं ये बता सकता हु की मरने के बाद इंसान कैसा महसूस करता है क्योंकि मैंने ये खुद महसूस किया है, वैसे तो स्कॉट भी 60 साल के है, परन्तु उनका कहना है कि जब वो 28 वर्ष के थे, तब उनकी मौत हो गयी थी परन्तु आश्चर्य की बात ये है की मरने के 20 मिनट बाद वो जिंदा भी हो गए।

स्कॉट आगे बताते है कि जब 28 वर्ष की आयु में उनका एक्सीडेंट हुआ था तब इस एक्सीडेंट की वजह से उनका अंगूठा भी टूट गया था, आगे वो बताते है कि आपरेशन करते वक़्त नर्स की छोटी से गलती की वजह से उनकी मौत हो गयी। तब उन्होंने जो महसूस किया उसके बारे में बताते हुए वो कहते है कि उन्होंने ये देखा कि कैसे नर्स चिल्लाते हुए डॉक्टर को बुलाने लगी, उनका कहना है कि अपनी मौत के 20 मिनट बाद वो फिर से जिंदा हो गए, इस 20 मिनट का अनुभव बताते हुए वो कहते है की इस उन्होंने इस दौरान पूरे दुनिया की सैर की, और ईश्वर ने उन्हें फिर जिंदा कर दिया ये कहते हुए की अभी उनका समय पूरा नही हुआ है।

सबके साथ साझा की अपनी आपबीती-

स्कॉट ने एक यूट्यूब चैनल prioritize your life को भावुक होते हुए अपनी कहानी के बारे में बताया और कहा कि ये पहली बार है जब वो इस घटना का उलेख सबके सामने कर रहे है, इसके पहले उन्होंने सिर्फ अपने पत्नी और दोस्तों को इस बारे में बताया था। आगे वो बताते है कि जब नर्स चिल्लाते हुए बाहर गयी तब उन्होंने महसूस किया कि उनके बगल में कोई अदृश्य शक्ति है, जिसने उन्हें एक पल में ही खूबसूरत मैदान में खड़ा कर दिया, वो उस अदृश्य शक्ति के पीछे चले जा रहे थे, वो कहते है की वहाँ सुंदर और रंग-बिरंगें फूल थे मखमली घास थी जो उनके कमर तक आ रही थी, सफेद बादल उन्हें छूकर जा रहे थे, उस अदृश्य शक्ति ने उन्हें पीछे मुड़कर देखने से मना किया था।

वो कहते है कि उनकी बाई तरफ काफी लंबे और खूबसूरत पेड़ थे, ऐसे पेड़ उन्होंने कभी नही देखे थे उनके दूसरी तरफ खूबसूरत फूल थे, जो आज भी उन्हें याद है वहां उन्हें बहुत शांति महसूस हो रही थी।

 

इस दौरन स्कॉट को महसूस हुआ कि वो जैसी जिंदगी जी रहे थे उससे बेहतर जी सकते थे, आगे वो बताते है कि जब वो अदृश्य शक्ति के पीछे चल रहे थे तब किसी ने उनका हाथ पकड़ा और कहा- ” अभी तुम्हारा समय नही है, अभी तुम्हे और भी चीज़े करनी है”, इस आवाज़ के बाद वो वापस अपने शरीर मे लौट आए। स्कॉट कहते है कि मरने के बाद का ये 20 मिनट का उनका अनुभव बहुत ही अच्छा और शांतिपूर्ण रहा, इस घटना के बाद उन्होंने अपने जीवन को अलग तरीके से देखना और जीना शुरू कर दिया।

अनामिका बिहार के एक छोटे से शहर छपरा से ताल्लुकात रखती हैं। अपनी पढाई के साथ साथ इनका समाजिक कार्यों में भी तुलनात्मक योगदान रहता है। नए लोगों से बात करना और उनके ज़िन्दगी के अनुभवों को साझा करना अनामिका को पसन्द है, जिसे यह कहानियों के माध्यम से अनेकों लोगों तक पहुंचाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here