आर्थिक तंगी के कारण अखबार बचें तो कभी एयरपोर्ट पर करनी पड़ी सफाई, आज खुद की मल्टीनेशनल कम्पनी है

651
Aamir qutub founder & CEO of Multi National Digital Farm

कहते हैं न, मेहनत के बदौलत कुछ भी हासिल किया जा सकता है। जी हाँ, कड़े परिश्रम की बदौलत ही भाग्य को भी बदला जा सकता है। आज हम आपको एक ऐसे शख्स से रूबरू कराने वाले हैं, जिनकी रुचि कभी पढाई-लिखाई में नहीं रही इसलिए उन्हें अच्छी नौकरी नहीं मिल पाती थी लेकिन उन्होंने मेहनत और संघर्ष करना नहीं छोड़ा और उसी मेहनत के बदौलत उनका खुद का करोड़ों का बिजनेस है और उसका टर्न ओवर करोड़ों का है।

पढ़ाई में नहीं थी रुचि

आमिर कुतुब (Aamir Qutub), जो उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) के अलीगढ़ के एक मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता सरकारी नौकरी में कार्यरत थे तथा मां एक गृहिणी है। आमिर को शुरू से हीं पढ़ाई में मन नहीं लगता था, लेकिन मां-बाप के दबाव के वजह से वे पढाई किया करते थे।

Aamir qutub founder & CEO of Multi National Digital Farm

पिता की इच्छा थी कि बेटा बने डॉक्टर या इंजीनियर

अमीर के पिता चाहते थे कि उनका बेटा पढ़ लिख कर डॉक्टर या इंजीनियर बने। लेकिन अमीर को पढ़ने में मन नहीं लगता था। जैसे तैसे उन्होंने अपनी इंटर की पढ़ाई पूरी की और उसके बाद पिता के दवाब के कारण बीटेक में प्रवेश ले लिया। अमीर शुरू से हीं पढ़ाई में काफी कमजोर थे, जिस वजह से एक टीचर ने उनसे यहां तक कह दिया कि तुम जिंदगी में कुछ नहीं कर पाओगे।

पिता के दवाब के कारण लिया इंजीनियरिंग में एडमिशन

12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद अमीर ने पिता के ज्यादा दवाब देने के कारण इंजीनियरिंग में एडमिशन तो करवा लिया लेकिन उसका मन पढ़ाई में बिल्कुल भी नहीं लगता था। वो हमेशा यही सोचा करता था कि जो वो पढ़ाई कर रहा है वो आगे चलकर कैसे उसके काम में आएगा और बार बार यही सोचकर वे हताश हो जाता थे और फिर इसी वजह से उनके मार्क्स भी कम आते थे।

बता दें कि, अमीर ने इंजीनियरिंग में मैकेनिकल ब्रांच को चुना था क्योंकि उनके सारे दोस्त मैकेनिकल ब्रांच हीं ले रहे थे, क्यूंकि ऐसा माना जाता है कि इस ब्रांच में सबसे ज़्यादा स्कोप होता है।

आमिर कहते हैं कि उनका मन पढ़ाई में बिलकुल भी नहीं लगता था। वह हमेशा इस दुविधा में रहते थे कि जो वे पढ़ रहे हैं वह कैसे आगे चलकर उनके लिए काम में आएगा। यह सब सोचकर वह हमेशा हताश हो जाते थे, जिसकी वजह से उनके मार्क्स भी कम आते थे।

Aamir qutub founder & CEO of Multi National Digital Farm

संतुष्टी नहीं मिलने के कारण छोड़ी नौकरी

आमिर ने जब अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की तो उन्हें पहली जॉब ऑफर हुई, लेकिन किसी कारण के वजह से उन्होंने उसे स्वीकार नहीं किया। इसके बाद उन्होंने दिल्ली जाने का प्लान बनाया और वहां जाकर होंडा कंपनी में जॉब करने लगे।

कुछ समय वहां काम करने के बाद उन्होंने खुद का बिजनेस शुरू करना चाहा और फिर उन्होंने नौकरी छोड़ी और फ्रीलांसिंग करने लगे। वह वेबसाइट डिजाइन करते थे। उनके कुछ क्लाइंट ऑस्ट्रेलिया व अमेरिका में भी थे।

यह भी पढ़ें :- वकालत छोड़ इस वकील ने शुरु किया खेती करना, 20 एकड़ में 50 किस्मों की खेती करते हैं : कमलजीत सिंह हेयर

ऑस्ट्रेलिया जाकर लिया एमबीए में एडमिशन

अमीर के कुछ दोस्तों ने यह सलाह दिया कि तुम विदेश जाकर अपना बिजनेस सेट करो। जिसके बाद आमिर स्टूडेंट वीजा लेकर ऑस्ट्रेलिया पहुंचे और वहां पर एक एमबीए कॉलेज में दाखिला करा लिया। पहले सेमेस्टर का फीस तो उन्होंने जैसे-तैसे जमा किया लेकिन दूसरे सेमेस्टर की फीस उनके लिए मुसीबत बन गई। और फीस हीं देने के लिए उन्होंने जॉब की तलाश करना शुरु कर दिया। फिर उन्होंने 170 कंपनियों में अप्लाई किया लेकिन कहीं भी नौकरी नहीं मिली।

Aamir qutub founder & CEO of Multi National Digital Farm

नौकरी नहीं मिलने के बाद बेचा अखबार तथा स्लीपर का किया काम

तीन महीने की कोशिश के बाद भी नौकरी नहीं मिलने के बाद आमिर (Aamir Qutub) को एयरपोर्ट पर क्लीनिंग का काम मिल गया। इस काम के लिए उन्हें 20 डॉलर प्रतिघंटा मिलता था। दिन का जॉब होने के कारण उन्हें पढ़ने का समय नहीं मिल पा रहा था। इसके बाद उन्होंने क्लीनिंग का काम छोड़ रात 3 बजे से सुबह 7 बजे तक घरों में अखबार डालने का काम करना शुरू किया।

शुरु किया अपना कारोबार

लगातार तीन महीना नौकरी के लिए प्रयास करने के बाद भी नौकरी नहीं मिलने के बाद अमीर (Aamir Qutub) ने खुद का बिजनेस शुरू करने का मन बनाया और फिर किसी तरह ऑस्ट्रेलिया में अपनी कंपनी रजिस्टर्ड कर ली। शुरू में तो उनके सामने चुनौती क्लाइंट बनाने की थी लेकिन धीरे-धीरे सब ठीक हो गया और आज के समय में आमिर (Aamir Qutub) की कंपनी ने काफी तरक्की कर लिया है।

बता दें कि, आज के समय में चार देशों में उनकी कंपनी है, तथा उनका सलाना करीब 10 करोड़ का टर्नओवर है। साथ हीं आपको यह बता दें कि, उनके कंपनी में 100 परमानेंट कर्मचारी के साथ-साथ करीब 300 कॉन्ट्रेक्टर्स काम कर रहे हैं।

23 COMMENTS

  1. Hmm is anyone else having problems with the images on this blog loading? I’m trying to determine if its a problem on my end or if it’s the blog. Any responses would be greatly appreciated.

  2. Türbanlı kot pantolon araması için 190⭐ porno filmi listeniyor.
    En iyi türbanlı kot pantolon sikiş videoları 7DAK ile,
    kaliteli sikiş videoları, türkçe izlenme rekoru kıran seks izle.
    7 338.273 Video. KATEGORİLER ARA CANLI CANLI O
    kadar ateşli ve arzuluydu ki anlgizli cekim türk konuşmalı
    sexm.

  3. What i do not understood is if truth be told how you are not really a lot more smartly-appreciated than you might be now. You are so intelligent. You understand thus significantly on the subject of this matter, produced me in my opinion consider it from a lot of varied angles. Its like men and women don’t seem to be fascinated except it is one thing to accomplish with Lady gaga! Your individual stuffs outstanding. All the time maintain it up!

  4. This blog is definitely rather handy since I’m at the moment creating an internet floral website – although I am only starting out therefore it’s really fairly small, nothing like this site. Can link to a few of the posts here as they are quite. Thanks much. Zoey Olsen

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here