अनोखा प्रयास:-प्लास्टिक की बेकार बोतलों से बनाना सीखे खूबसूरत गार्डन, जम्मू की शिक्षक नाजिया से-जाने कैसे।

4721
jammu teacher gardening

आज हमारे रोजमर्रा के काम से जाने अनजाने में पर्यावरण को नुकसान पहुँच रहा है।सारा विश्व आज परेशान है दूषित पर्यावरण को लेकर।परन्तु सिर्फ हमारे सोचने से कुछ नही होगा ।हमे इस बात पर ध्यान देना होगा कि हम प्लास्टिक या वेस्ट मटेरियल से ऐसा क्या कर सकते है जिससे हमारे पर्यावरण को नुकसान ना पहुँचे।

डॉ.नाजिया रसूल लतीफी का परिचय:-

डॉ. नाजिया रसूल लतीफी जो कि पर्यावरणविद है। उन्होंने कुछ अनोखा करने की सोच से प्लास्टिक की बोतल से बगीचा बनाने का सोचा। जिससे प्लास्टिक पॉल्युशन कम हो साथ ही साथ वर्टीकल बगीचे की वजह से पानी की भी बचत हो। उसके साथ ही शहर की खूबसूरती भी बढ़ेगी।

सेमिनार से आया विचार:-

नाजिया ने एक सेमिनार में भाग लिया था वही से उन्हें ये अनोखा विचार आया।नाजिया को पर्यावरण से बहुत लगाव है इसलिए उन्होंने कुछ अनोखा करने की सोची।नाजिया ने गांधी नगर में गवर्मेंट कॉलेज फ़ॉर वीमेन में एक वर्टीकल गार्डन बनाया।इसी में नाजिया पढ़ाती भी थी।

उसके बाद नाजिया ने पुलिस पब्लिक स्कूल,जम्मू विश्वविद्यालय में भी एक एक वर्टीकल गार्डन बनाया।ये अनोखी पहल देख कर कई संगठनों ने भी नाजिया से संपर्क किया।

पानी की बचत:-

इसमें ड्रिप सिंचाई प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है।जिससे कि पानी कम मात्रा में उपयोग हो और साथ ही साथ पानी की बचत हो सकें। इस कोरोना महामारी में सबको अपने सेहत के लिए स्वच्छ और स्वस्थ वातावरण चाहिए।जिसके लिए एक अनोखी पहल है।

कमाई का रास्ता:-

नाजिया कहती है कि मैं अपने छात्रों को इसलिए भी सिखाती हु की वो आगे जाके इस अनोखी तरकीब से कमाई भी कर सके।

नाजिया ने अपने बगीचे को सजाने के लिए प्लास्टिक के बोतलों को कार्टून से पेंट कर सजाया बगीचा।जिससे कि इसकी सुंदरता में चार चांद लग जाए।नाजिया का कहना है कि इस बगीचे को आप चाहे तो घर के बाहर या अंदर अपनी सुविधा अनुसार लगा के अपनी घर की खूबसूरती बढ़ा सकते हैं।

Kheti trend नाजिया के अनोखी सोच को नमस्कार करता है साथ ही साथ उन्हें उनके आगे के जीवन के लिए शुभकामनाएं भी देता है।

अनामिका बिहार के एक छोटे से शहर छपरा से ताल्लुकात रखती हैं। अपनी पढाई के साथ साथ इनका समाजिक कार्यों में भी तुलनात्मक योगदान रहता है। नए लोगों से बात करना और उनके ज़िन्दगी के अनुभवों को साझा करना अनामिका को पसन्द है, जिसे यह कहानियों के माध्यम से अनेकों लोगों तक पहुंचाती हैं।

15 COMMENTS

  1. Greetings! I know this is kinda off topic nevertheless I’d figured I’d ask. Would you be interested in exchanging links or maybe guest authoring a blog article or vice-versa? My site addresses a lot of the same subjects as yours and I think we could greatly benefit from each other. If you might be interested feel free to send me an e-mail. I look forward to hearing from you! Fantastic blog by the way!

  2. Hello there! This is kind of off topic but I need some guidance from an established blog. Is it very difficult to set up your own blog? I’m not very techincal but I can figure things out pretty fast. I’m thinking about making my own but I’m not sure where to begin. Do you have any ideas or suggestions? Many thanks

  3. Thank you a lot for providing individuals with an exceptionally nice opportunity to discover important secrets from here. It’s always so sweet plus full of fun for me personally and my office fellow workers to visit your blog a minimum of thrice in a week to find out the new issues you will have. And definitely, I’m just at all times pleased with the surprising advice served by you. Certain 1 facts in this article are really the simplest I have had.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here