केमिकल फ्री विलेज : तेलंगाना का यह गांव करता है ऑर्गेनिक खेती, यहां का उत्पाद सिंगापुर तक भेजा जाता है

604
First organic village of telangana inbhavi village

हम अपनी राजमर्रा की जिंदगी में विभिन्न तरीकों के रसायनों के संपर्क में आते है, जो हमारी सेहत के लिए हानिकारक होते हैं। ऐसे में हम एक ऐसे गांव की बात करेंगे, जहां के लोगों ने अपने गांव को रसायन मुक्त रखने की पहल की है और इस गांव में प्रवेश करते हीं आपको पत्थरों से लिखा मिलेगा, ‘केमिकल फ्री विलेज’, जिसका अर्थ है इस गांव में केमिकल का इस्तेमाल नहीं होता है।

कहां है यह ‘केमिकल फ्री विलेज’

तेलंगाना (Telangana) का इनभवी गांव (Inbhavi Village), जहां के लोगों ने पर्यावरण को बचाने के लिए एक नई पहल की है। इस गांव के लोगों ने ठान लिया है कि अपने गांव में कभी किसी प्रकार के केमिकल का इस्तेमाल होने नहीं देंगे और प्रकृति के द्वारा दिए गए सभी बहुमूल्य उपहार को संभाल कर रखेंगे।

तेलंगाना का पहला ऑर्गेनिग गांव

यह गांव हैदराबाद से 85 किमी दूर बसा हुआ है और इस गांव के पीछे की कहानी भी बहुत अद्भुक्त है। आज से 13 साल पहले यहां के 52 परिवारों ने यह निर्णय लिया था कि वे पूरे तरीके से प्राकृतिक खेती करेंगे, जिसमें किसी भी तरह का पेस्टिसाइड्स या फिर केमिकल का इस्तेमाल नहीं करेंगे। 

First organic village of telangana inbhavi village

ऑर्गेनिक तरीके से करते हैं खेती

एक रिपोर्ट से मिले जानकारी के अनुसार इस गांव के लोगों का कहना है कि, वे जब अपने खेतों में फर्टिलाइजर्स और पेस्टिसाइड्स का इस्तेमाल करते थे उस समय ज्यादा पैदावार होती थी, जिससे कमाई भी अच्छी हो जाती थी।लेकिन उसके बाद के साल में न तो किसी तरह का पैदावार होता है और न ही उनकी कमाई होती है। इसी समय उन्हें इस बात का अहसास हुआ कि उनके पूर्वज सही कहते थे कि ये एक धीमा जहर है और यह धीरे-धीरे सबको मार देगा।

यह भी पढ़ें :- कभी घर चलाना भी था मुश्किल, आज इजराइल टेक्नोलॉज़ी अपना खेती से करोड़ों रुपये कमा रहा है यह किसान

ऑर्गेनिक खेती के लिए लिया गया था 15 हजार तक का लोन

इनभवी गांव के पूरे लोग एक साथ मिलकर काम करते हैं। यहां के लोगों ने ऑर्गेनिक खेती के लिए 15 हजार तक का लोन लिया था, लेकिन अब गांव के किसी भी व्यक्ति पर कोई कर्ज नहीं हैं। यहां तक कि इस गांव में रहने वाले हर किसान के घर में एक ट्रैक्टर और एक साइकिल है, जिससे उनकी जिंदगी आसान बन सकें।

First organic village of telangana inbhavi village

अब हो रही ऑर्गेनिक खेती कर अच्छी कमाई

गांव के लोगों का कहना है कि, उनके खेत की जमीनें खराब हो गई थीं, जिससे शुरू के 3 से 5 साल में प्रोडक्टिविटी काफी कम हुई थी, लेकिन अब यह बढ़ रही है।

बता दें कि,जब यहां के कुछ लोगों ने ऑर्गेनिक खेती करने की शुरुआत की थी, तो खेती में नुकसान हुआ जिसको देख गांव अन्य लोग हंसते थे। दूसरे लोगों का कहना था कि वह केवल 1000 रुपये में पेस्टिसाइड्स और फर्टिलाइजर का इस्तेमाल करके अच्छी फसल पैदा कर रहे है। लेकिन जब धीरे-धीरे ऑर्गेनिक खेती से भी अच्छी पैदावार होने लगी तो सभी ने ऑर्गेनिक खेती को अपनाना शुरू किया और धीरे-धीरे वह लोग भी गोबर, नीम के तेल का इस्तेमाल शुरू कर दिए।

हो रही बड़ी मात्रा में उपज

अब इस गांव के किसान चावल, धान, कॉटन, चिली, तिलहन के साथ-साथ दूसरे फल भी उगा रहे है, जो किसान पहले अपने घर का अनाज नहीं पैदा कर पा रहा था, वह भी अब अधिक मात्रा में अनाज और फल की पैदावर कर रहा है।

हैदराबाद से सिंगापुर तक बेचा जा रहा है इनका उत्पाद

इनभवी गांव के किसान ऑर्गेनिक तरीके से खेती को अपना कर अब बडी मात्रा में अनाज की उपज कर रहे हैं तथा अपनी उत्पाद हैदराबाद से लेकर सिंगापुर तक बेच रहे है। अब उनके इस सफलता से अन्य शहर और गांव के किसानों को भी प्रेरणा मिल रही है और वे भी धीरे-धीरे ऑर्गेनिक खेती को अपना रहे हैं।

4 COMMENTS

  1. Normally I do not read post on blogs, but I would like to say that this write-up very forced me to try and do so! Your writing style has been surprised me. Thanks, quite nice post.

  2. I’m truly enjoying the design and layout of your blog. It’s a very easy on the eyes which makes it much more pleasant for me to come here and visit more often. Did you hire out a designer to create your theme? Excellent work!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here