दिल्ली की गीता अपने घर मे ही उगा रही हैं मशरुम के उत्तम किस्म, अबतक हज़ारो लोगों को किया ट्रेंड: सीखें तरीका

1123

मशरूम में कई ऐसे जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिनकी शरीर को बहुत आवश्यकता होती है. साथ ही ये फाइबर का भी एक अच्छा माध्यम है. विटमिन-डी, प्रोटीन, जिंक और सेलेनियम जैसी कई प्रॉपर्टीज मशरूम को सेहत के लिए कई गुना फायदेमंद बनाते हैं।
आमतौर पर हम मशरूम बाजार से ही खरीद कर लाते हैं, लेकिन आज हम ऐसी महिला के बारे में जानेंगे,जो अपने घर मे ही उगाती हैं मशरूम। उनका नाम है- गीता अरुणाचलम।

कौन हैं गीता-

गीता दिल्ली की रहने वाली हैं और प्रिंसिपल पद से रिटायर्ड हैं। शुरू से ही उन्हें पेड़ पौधों का काफी शौक था। ये लगभग 10-12 सालों से अपने घर मे ही मशरूम उगा रही हैं। इनसे हज़ारो महिलाएं मशरुम के लिए ट्रेनिंग ले चुकी हैं।

gita

गीता ने विस्तार से बताया, मशरूम के प्रकारों को-

उन्होंने खेती ट्रेंड को बताया कि- यूं तो हमारे देश मे 3 किस्म के मशरूम को लोग जानते हैं –
1-बटन,
2- ढिंगरी (ओएस्टर)
3-दुधिया (मिल्की)
उनका कहना है कि लोग ज्यादातर बटन मशरुम को खरीदते और खाते हैं, लेकिन उन्हें पता ही नही की ढिंगरी अर्थात ओएस्टर, स्वाद और पोषण दोनों में उत्तम है। लेकिन बाजार में इसकी कीमत आसमान छूती है।और मजे की बात ये है कि हम इसे आसानी से अपने घरों में ही उगा सकते हैं। ये आसान भी है और कम ख़र्चीला भी।

कैसे उगाती हैं मशरूम-

गीता का कहना है कि सबसे पहले आप घर के ऐसे कोने को तलाशे, जहा नमी रहती हो और दूसरी बात की जहाँ अंधेरा रहता हो। फिर आप किसी कार्डबोर्ड जैसे डब्बे में आराम से मशरूम उगा सकते हैं। ध्यान रहे कि नमी और कम रौशनी ही पौधों को ज़िंदा रखने में मदद करेगी।
इसमे पिले भूसे को को 6-7 इंच के आकार में काट कर इससे पूरी रात भिगोते हुए छोड़ दे उसके बाद आपको इसे उबालना और सुखाना होगा। भूसे को तैयार करने में इस बात का ध्यान रखे कि इसमें नमी बनी रहे।

अब मशरूम को लगाने के तरीके-

गीता कहती हैं कि यदि आप एक परिवार के लिए उगाना चाहते हैं तो आपके लिए 5 kg भूसा काफी है।और आप जितना भी भूसा ले, उसका 2% ही बीज डालें। बाकी आप अपने जरूरत के हिसाब से देख सकते हैं। अगर आप शुरुआत कर रहे हैं तो कोशिश करे कि कम से ही उगाना शुरू करें।
अब इसके बिजोई के आप दो तरीके अपना सकते हैं- (1) आप इसे भूसे के ऊपर ही छिड़क कर उसमें सही से मिलाकर छोड़ दे,
(2)- या तो आप भूसे के लेयर बना ले और ये के ऊपर एक सही से डाल के पॉलीथिन में भर दें।
इसके बाद उस बैग में आप छोटे छोटे छेद कर दे, ऐसा की भूसा बाहर न निकले और हवा भी अंदर जाए। उसके बाद अपनी चुनी हुई जगह पर इससे रख दें।

3 दिन पर आप जायज़ा लेते रहें-

आप बैग में रखने के बाद 3 दिन पे उससे हटा के देखें। यदि वहां उजला कोई जाल दिखे तो समझ लीजिए कि आपका मशरुम तैयार हो रहा है। उसे नमी देते रहिये, जरूरत हो तो पानी का छिड़काव भी कीजिये, लेकिन पानी ना जमा हो पाए।
मशरूम को तैयार होने में 3 हफ्ते का समय लगता है, इसके बाद आप इसे खोलकर कही टांग सकते हैं। कुछ दिनों में ये तेज़ी से बढ़ने लगता है और आपको इसके बड्स भी दिखते रहेंगे।

एक बार की गई ये प्रक्रिया,2 से 3 महीने तक आपको देती रहेगी मशरूम-


जब आपको छेद से बड्स बाहर निकलते दिखे तो आप समझ लीजिए कि आपका मशरूम अब तैयार है। जल्द हज आपको इसका गुच्छा भी मिल जाएगा। उसे निकालने के बाद आप बैग को वही टांगे छोड़ दें। इसके 10 दिन बाद आपको फिर उससे मशरूम मिलेगा। कारीबन 2-3 महीने आप इससे मशरुम प्राप्त कर सकते हैं।

भूसे को काले होने तक प्रयोग में रखे-

गीता बताती हैं कि भूसा जबतक काला न हो जाये तबतक आप उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। यही नहीं, बल्कि काला होने के बाद भी आपको इसे फेकने की जरूरत नही है, आप इससे पीस कर जैविक खाद बना सकते हैं। जो आपके मिट्टी के लिए वरदान साबित हो जाएगा

गीता ने कहा कि यदि मशरूम ज्यादा हो जाये तो आप इसे कर सकते हैं स्टोर-

अगर उत्पादन जरूरत से ज्यादा हो जाये तो आप इससे फ्रिज में स्टोर कर सकते हैं। या फिर इसे सुखाकर एयरटाइट डब्बे में भी पैक कर सकते हैं। इससे वो खराब भी नही होगा, और जब आपको खाना हो तो आप इसे बॉयल कर ले, ये पहले जैसा सॉफ्ट हो जाएगा।

कीजिये अपने वक़्त का सही इस्तेमाल और बनाइये खुद की पहचान-

गीता कहती हैं कि इसके बीज आपको आराम से किसी भी पास की नर्सरी में मिल जाएंगे। उनका कहना है कि,किसी भी अच्छे काम मे वक़्त तो लगता ही है, आपसे अगर पहले प्रयास में ये ना हो पाए तो लगे रहिये और आगे बढिए।
आप जरूरी नही की मशरुम को बाजार में जा कर ही बेचें, बल्कि आप खुद भी सूप या मशरुम फ्राई के लिए स्टॉल लगा सकते हैं। आज ये काम युवाओं से ले कर बुज़ुर्गों तक लोकप्रिय हो रहा है। तक आईये आत्मनिर्भर बनते हैं और दूसरों को प्रेरित भी करते हैं।
गीता अरुणाचलम के इस आत्मनिर्भर प्रयास और प्रेरणादायी विचार को kheti trend सलाम करता है।

17 COMMENTS

  1. A mozgásszegény és rendszertelen életmód, valamint a helytelen táplálkozás nem kedvez az emésztésnek.
    Táplálkozási szakemberek szerint naponta 30 gramm
    rost bevitele lenne az ideális egy átlagos
    felnőtt szervezet számára. Amennyiben nem fogyasztasz elegendő teljes
    kiőrlésű táplálékot, zöldséget, gyümölcsöt, ne.

  2. Most of the things you articulate happens to be astonishingly precise and it makes me ponder the reason why I had not looked at this in this light before. This particular article truly did switch the light on for me personally as far as this specific issue goes. However at this time there is one factor I am not too comfortable with and while I make an effort to reconcile that with the actual main idea of the position, permit me observe exactly what all the rest of your visitors have to say.Well done.

  3. I intended to put you a bit of word just to give many thanks once again over the incredible methods you’ve shown at this time. It’s certainly seriously generous of you in giving easily just what most people would have offered for sale as an ebook to end up making some cash for their own end, especially seeing that you could have tried it if you decided. The thoughts likewise served to become fantastic way to understand that other people online have the identical keenness really like my personal own to grasp good deal more with reference to this problem. I am certain there are thousands of more pleasurable occasions ahead for people who read carefully your blog post.

  4. I’ve been searching for hours on this topic and finally found your post. slotsite, I have read your post and I am very impressed. We prefer your opinion and will visit this site frequently to refer to your opinion. When would you like to visit my site?

  5. What i don’t realize is in truth how you are not actually much more smartly-favored than you may be right now. You are very intelligent. You realize therefore considerably relating to this subject, produced me personally consider it from numerous varied angles. Its like men and women aren’t involved until it¦s one thing to do with Woman gaga! Your personal stuffs outstanding. At all times maintain it up!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here