इन आसान तरीकों से घर पर ही उगा सकते हैं बैंगन, नहीं पड़ेगी खेत की जरूरत

452
Grow Brinjal at your home

बैंगन (Brinjal) ना केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में खायी जाने वाली सब्जियों में से एक है। यह विभिन्न प्रकार के रूप में देखने को मिलती है। बैंगन को अंग्रेजी में Brinjal के अलावा Eggplant भी कहते है क्योंकि इसकी एक प्रजाति देखने में अंडे की तरह होती है। बैंगन की खेती दक्षिण और पूर्वी एशिया में भारी मात्रा में की जाती है। बैंगन के पौधों को गर्मी और पूर्ण सूर्य के अलावा नम मिट्टी की जरूरत होती है। – grow brinjal plant at home

कंटेनर में भी उगा सकते है बैंगन

जगह की कमी के वजह से छोटी जगह में बागवानी करने वाले लोगों के लिए बैंगन एक अच्छा विकल्प है। यह एक कंटेनर में भी उगाया जा सकता है। गमलों में बैंगन उगाने के लिए या तो आप बीज का उपयोग करना शुरू करें या फिर पास की नर्सरी या उद्यान केंद्र से रोपाई खरीदें। अगर आप बीज से पौधे लगाते हैं, तो वह आपके लिए अपेक्षाकृत आसान है।

Grow Brinjal at your home

वसंत ऋतु में बैंगन का पौधा लगाना सबसे अच्छा माना जाता है

आमतौर पर वसंत ऋतु में बैंगन के पौधों को जमीन पर प्रत्यारोपित किया जाता है क्योंकि इस समय ठंढ के सभी खतरे टल चुके होते हैं, लेकिन कंटेनर में उगाए गए बैंगन गर्मियों में और शुरुआती गिरावट में भी लगाए जा सकते हैं। इसके अलावा अगर आप तापमान को नियंत्रित करने के लिए बर्तनों को इधर-उधर ले जा सकते हैैं। खासकर रात के समय जब तापमान कम हो जाता है तो आप गर्म और गर्म ठंढ से मुक्त जलवायु में बैंगन उगा रहे है।

बैंगन के बीजों को अंकुरित करने के लिए 68 F (20 C) तापमान की जरूरत होती है

आप प्रत्येक कंटेनर में बैंगन के दो बीज बोएं। टमाटर और मिर्च की तुलना में बैंगन को अंकुरण के लिए ज्यादा गर्मी की आवश्यकता होती है। बैंगन के बीजों को अंकुरित करने के लिए 68 F (20 C) से ऊपर का तापमान अच्छा होता है। यह कंटेनर बागवानी का सबसे अच्छा तरीका है। एक बार जब बीज अंकुरित हो जाते हैं और चार पत्ते तक हो जाते हैं, तो उन्हें वांछित कंटेनरों में प्रत्यारोपित किया जा सकता है। – – grow brinjal plant at home

Grow Brinjal at your home

बैंगन की किस्म के अनुसार खरीदे कंटेनर

आप जितनी बड़ी बैंगन की किस्म उगाएंगे आपको उतनी ही बड़े कंटेनर की जरूरत पड़ेगी। आमतौर पर बैंगन अपेक्षाकृत बड़ा होता है, काली मिर्च के पौधे या टमाटर के समान इसलिए इसके लिए एक बड़े बर्तन की आवश्यकता होती है, जो कम से कम पांच गैलन की क्षमता के लिए पर्याप्त बड़ा होना चाहिए।इसके अलावा प्रत्येक पौधे के लिए कम से कम 12 इंच गहरे आकार के गमले का उपयोग करें।

बैंगन को अधिक गर्मी और धूप की जरूरत होती है

अगर आप ठंडे क्षेत्र में बैंगन उगा रहे हैं, तो ऐसा बर्तन चुने जो गर्मी को बरकरार रखे। बर्तनों को ऐसी जगह पर रखें जहां हवा का संचार अच्छा हो और सीधी धूप और थोड़ी हवा मिल सके क्योंकि बैंगन को बढ़ने के लिए अधिक गर्मी और धूप की आवश्यकता होती है। इसके लिए पश्चिम या दक्षिणमुखी दिशा उपयुक्त है।- grow brinjal plant at home

बैंगन उगाने के लिए मिट्टी में नमी बनाए रखे

बैंगन को विकास के लिए बहुत सारे पोषक तत्वों और पीएच में तटस्थ या थोड़ी अम्लीय मिट्टी की आवश्यकता होती है। इसके लिए ऐसी मिट्टी का उपयोग करें जो पोषक तत्वों से भरपूर हो जैसे दोमट मिट्टी रहित पॉटिंग मिक्स। आपको मिट्टी में पानी बनाए रखने की क्षमता बढ़ाने के लिए उसमें पुरानी खाद डालनी चाहिए। पानी डालते समय इस बात का ख्याल रखे कि जड़ सड़न से बचने के लिए जल निकासी अच्छी हो। इसके अलावा मिट्टी को ज्यादा पानी से संतृप्त न करें, जिससे वह गीली हो जाए।

Grow Brinjal at your home

बैंगन भारी फीडर होते हैं

अधिक उत्पादकता के लिए पर्याप्त पोषक तत्व प्रदान करने के लिए आपको उर्वरक बैग पर उर्वरक लगाना चाहिए। बैंगन भारी फीडर होते हैं और फॉस्फोरस में उच्च उर्वरक की आवश्यकता होती है इसलिए उर्वरक का समान अनुपात में उपयोग करें। इसके लिए आप संतुलित उर्वरक भी लगा सकते है। तरल पौधों के भोजन के साथ अपने पौधों की पत्तियों पर स्प्रे करें, जिसे आमतौर पर पर्ण आहार के रूप में जाना जाता है। – grow brinjal plant at home

टमाटर के ही तरह गमले में उगा सकते है बैंगन

गमले में बैंगन उगाना टमाटर से ज्यादा अलग नहीं है। इसमें टमाटर के विपरीत इसकी छंटाई करना तथा चूसने वालों को चुनना आवश्यक नहीं है, लेकिन उत्पादकता बढ़ाने के लिए ऐसा किया जा सकता हैं। जब पौधे परिपक्व हो जाते हैं, तो आपको उन्हें निकालने के लिए चूसने वालों की तलाश करनी होगी। बैंगन की झाड़ी लंबी होने पर तथा फल मोटे होने पर आपको अपने पौधे को सहारा देना होगा। इसके लिए आप गमले एक छड़ी डाल कर पौधे को उससे बांध सकते है।

Grow Brinjal at your home

इस तरह बचाए अपने पौधों को कीटों से

बैंगन के लिए सबसे आम कीट ब्लैक पिस्सू बीटल और कटवर्म है, जो पौधे की पत्तियों पर फ़ीड करता है। यह कीड़े पौधे को उसके आधार पर काटता है और कटवर्म कॉलर के जरिए इसे रोका जा सकता हैं। इसके अलावा इन कीटों को रासायनिक कीटनाशकों का उपयोग करके भी नियंत्रित किया जा सकता है।

60 से 80 दिन में पौधे फल देने लगते है

आमतौर पर बैंगन रोपण के दो से तीन महीने बाद यह परिपक्वता तक पहुंच जाता है। यह आपके द्वारा उगाई जाने वाली किस्म के प्रकार और जलवायु पर अधिक निर्भर करता है। 60 से 80 दिन के अंदर पौधा फल देना शुरू कर देता है, जो पूरी तरह से परिपक्व होने पर चमकदार हो जाते है। – grow brinjal plant at home

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here