कैसे हुई थी दुनिया भर में प्रसिद्ध डोडा बर्फी की खोज, जानिए उससे जुड़ा रोचक इतिहास

714
History of Dodha Barfi Dessert

जैसे की आप हम सब जानते हैं की हमारे देश त्योहारों का देश हैं जहा लोग मिल जुल कर बहुत खुशियां बनाते है वे साथ मिल कर त्योहारों का आनंद उठाते हैं और साथ ही साथ इन दिनों में लोग पकवान वे तरह तरह के मिठाइयां खाना बहुत पसंद करते हैं क्योंकि हमारा भारत खुशी के समय में मीठा खाना ज्यादा पसंद करता हैं आज के समय में मिठाई की मांग बहुत अधिक हो गई है जैसे आज के समय में लोग हर छोटे से छोटे महोत्सव पर मिठाई मंगवाते है क्युकी कहा जाता है की किसी भी महोत्सव की शुरुवात मीठे से ही की जाती हैं और आज कल अनेक प्रकार की मिठाई बाजार में देखने को मिलती हैं जैसे की
रसगुल्ले,गुलाबजामुन,बर्फी, पेड़ा, लड्डू,मिल्क केक और डोडा बर्फी (dhoda burfi) आदि। आज कल लोग खाने में मिठाइयां अधिक पसंद कर रहे है और मिठाई को बनाने के लिए कड़ी मेहनत लगती है जिससे उन मिठाई का स्वाद निखर कर आता है। कुछ मिठाई ऐसी होती है जो कम समय में बन के तैयार हो जाती है तो वही कुछ मिठाई बनने के लिए 3 से 4 घंटे का भी समय लगता है। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे है की डोडा बर्फी (Dhoda Burfi) की खोज कैसे और कब हुई।

*आजादी से पहले का है इतिहास……

डोढा बर्फी (Dodha Burfi) जिसके बारे में सभी जानते है की यह कितनी स्वादिष्ट मिठाई है लोग जब इसको खाते है तब वह दोबारा खाने की मांग करते है इस मिठाई का निर्माण 1912 में पहलवान हंसराज विग (Hansraj Vig) के द्वारा किया गया था। सन् 1912 में भारत को हिंदुस्तान के नाम से जाना जाता था। यह बात हम लोग अच्छी तरह से जानते है की पहलवानी करने के लिए जितना हो सके अधिक मात्रा में दूध, घी,मेवा वे प्रोटीन की आवश्यकता होती थी। लेकिन पहलवान हंसराज विग को ये सब ऐसे खाना पसंद नही था। लेकिन उनके लिए यह सब खाना भी बेहद जरूरी थी जिसके बाद उन्होंने कुछ ऐसा बनाना चाह जिसमे ये सारी चीजों का इस्तेमाल हो।

यह भी पढ़ें:- 14 वर्ष की उम्र में KBC में करोड़पति बनने वाला लड़का अब IPS बनकर कर रहा है देश की सेवा

*किस तरीके से किया डोडा बर्फी का निर्माण….

जैसे की हमने पढ़ा की उस समय पहलवान लोगो को काफी प्रोटीन वे दूध की आवश्यकता थी लेकिन उन्हे ऐसे सब खाना बिलकुल पसंद नहीं था जिसके बाद काफी सोच विचार कर उन्होंने इस सब चीज का प्रयोग किया। जिसका अंत में उन्हे एक ऐसा स्वादिष्ट मिठाई मिली। जिसका स्वाद उन्हे बेहद अच्छा लगा। जिसके बाद उन्होंने इसका सेवन करना शुरू किया। उस दिन से और आज के समय में डोडा बर्फी को हर कोई बड़े शौक से खाता है और लोग इतने दीवाने है की कोई भी जन्मदिन हो या कोई भी छोटे से छोटा महोत्सव हो। जिसमे हर व्यक्ति मिठाई खाने का शौकीन रखता हैं धीरे धीरे बाजारों में डोडा बर्फी काफी मशहूर होने लगी की जिसे लोग इसका इस्तेमाल कही महोत्सव पे भी करने लगे ।धीरे धीरे फिर उन्होंने इसकी बिक्री भी शुरू की जिससे यह लोगो को बेहद पसंद आने लगी और धीरे धीरे यह हर जगह मशहूर हो गई।

*बनी हुई डोडा बर्फी खा सकते है हफ्ते बाद…..

कही मिठाई ऐसी होती हैं जिन्हे हम लंबे समय तक स्टोर करके नही रख सकते क्युकी कही मिठाई जो लंबे समय तक रखने पर खराब हो जाती है और सेहत को नुकसान पहुंचाती हैं लेकिन डोडा बर्फी स्वास्थ्य के लिए है फायदेमंद क्योंकि हम इसको एक बार बनाने पर फ्रिज में रख कर 2 सप्ताह तक इस्तेमाल कर सकते है और यह खाने में अत्यधिक स्वादिष्ट है इसलिए लोग इसे बड़े चाव से खाने लगे।

यह भी पढ़ें:- 10 हजार रुपये से शुरु किया था आचार का बिजनेस, अब हर महीने कर रही हैं लाखों की कमाई

*मशहूर डोडा बर्फी से की रॉयल हाउस की शुरुवात…..

जब भारत का बंटवारा हुआ तो हंसराज भारत में आ गए थे यहां उनका परिवार सरघोडा जिला जो वर्तमान में अभी पाकिस्तान में है, वहां से पंजाब के कोटकपुर में आकर रहने लगे और यही के वासी बन गए। अब इन्होंने कोटकपुर में ही रॉयल डोडा हाउस की शुरुवात की ओर इनका एक भाई जो पाकिस्तान में रहते है उन्होंने वहा पर इस डोडा बर्फी को मशहूर किया और लोग इससे वहा भी बहुत अधिक पसंद करने लगे।

*भारत के साथ साथ विदेशो में भी बड़ रही है मांग……

अब कोई भी चीज जब मशहूर होती है तो उसके चर्चे दूर दूर तक फैलने लगते हैं ठीक ऐसे ही डोडा बर्फी के भी काफी चर्चे होने लगे। जिसके बाद भारत में मशहूर होने के साथ–साथ विदेशों में भी इसको बहुत अधिक पसंद किया जाने लगा हैं लोग इसकी बहुत अधिक मात्रा में मांग करने लगे। इसलिए भारत से इस मिठाई को एक्सपोर्ट करके विदेशों में भेजना पड़ा । जो की अपने देश के लिए गर्व की बात है क्योंकि अगर हमारे देश में से कोई भी चीज प्रसिद्ध होती है तो उससे देश का नाम ही रोशन होता है।

5 COMMENTS

  1. Hi there, I simply couldn’t leave your website without saying that I appreciate the information you supply to your visitors about Website Traffic. Here’s mine xrank.cyou and I cover the same topic you might want to get some insights from.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here