इस IAS अधिकारी ने 3 एकड़ जमीन को मिनी जंगल में किया तब्दील, अब लोगों को शुद्ध और ताजी हवा मिल रही

872
IAS Abhijeet bangar turned dumpyard into miyawaki forest in navi mumbai

पेड़-पौधे पृथ्वी के धरोहर हैं, इनके बिना किसी भी प्राणी का पृथ्वी पर रहना मुश्किल हीं नहीं नामुकिन है। इसी के माध्यम से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रुप से मानव या जीव-जन्तुओं को भोजन भी हासिल होता हैं। आज के समय में लोग पेड़-पौधे लगाने से हिचक रहे हैं, यहां तक कि पूर्व मे लगे पौधों का भी लोग संरक्षण नही दे पाते है, जिसके वजह से दिन-रात पेड़-पौधे की कटाई बढ़ते जा रही है।

आज हम बात करेंगे एक ऐसे पुलिस अधिकारी के बारे में, जो कि नौकरी के दौरान अपने पदस्थापन वाले जगह में काफी पेड़-पौधे (मिनी जंगल) लगाते है।

तो आइए जानते हैं उस शख्स और उसके तकनीक से जुड़े सभी बातों के बारे में-

कौन है वह शख्स ?

हम बात कर रहे हैं आईएएस अधिकारी अभिजीत बांगर (IAS officer Abhijit Bangar) की, जिनकी गिनती महाराष्ट्र (Maharashta) के गिने चुने ईमानदार पुलिस अधिकारी के रुप में होता है। वह पर्यावरण संरक्षण को लेकर काफी मेहनत करते हैं। उनके द्वारा अभी तक इस क्षेत्र में काफी कार्य हुए हैं।

IAS Abhijeet bangar turned dumpyard into miyawaki forest in navi mumbai

नागपुर को बनाया मिनी जंगल

पुलिस अधिकारी अभिजीत (IAS officer Abhijit Bangar) का कहना है कि उनका यह सपना है कि वह अर्बन फॉरेस्ट बने ताकि शहरों में भी वे पेड़ पौधे लगाकर हरियाली बढ़ा सके और स्वस्थ वातावरण भी हो सके। अर्बन फॉरेस्ट बनाने के लिए ज्यादातर शहरों में जमीन की कमी एक समस्या है। वे मुंबई से पहले वह नागपुर में पोस्टेड थे। वे वहां भी एक डंपयार्ड को मियावाकी जंगल (Miyawaki Forest) में बदलने के लिए एक ऐसा ही प्रोजेक्ट शुरु किए थे।

उन्होंने (IAS officer Abhijit Bangar) इस प्रोजेक्ट को मुंबई के एक गैर सरकारी संगठन ‘ग्रीन यात्रा’ के साथ मिलकर पूरा किया था। इसके जरिए उन्होंने मिनी जंगल लगाने का काम किया था। इसके बाद उन्होंने नवी मुंबई में मियावाकी जंगल विकसित करने के लिए भी उसी एनजीओ के साथ काम करने का फैसला लिया। पहले जहाँ कुछ दिखता तक नही था आज के समय में वहाँ मिनी जंगल लगाने में सफलता हासिल कर चुके हैं।

IAS Abhijeet bangar turned dumpyard into miyawaki forest in navi mumbai

अब डंपयार्ड को बनाया मिनी जंगल

उन्होने (IAS officer Abhijit Bangar) नवी मुम्बई के डंपयार्ड को भी हरा-भरा करने का जिम्मा उठाया है। इसके लिए इन्होनें 3 एकड़ जमीन एनजीओ के मदद से जंगल लगवा दिया है। उन्होंने 3 एकड़ की पूरी जमीन पर 60,000 पौधे लगावाये थे। पहले चरण में 40,000 पेड़ और दूसरे चरण में 20,000 पौधे लगाए गए। इय तरह अब यह इलाका पुरी तरह से जंगल में तब्दील हो गया है।

यह भी पढ़ें :- डॉक्टरी छोड़ शुरु की UPSC की तैयारी, दूसरी रैंक हासिल कर बनी IAS अधिकारी : प्रेरणा

जीव-जंतूओं को मिला आसरा

नवी मुंबई के डंपयार्ड में मिनी जंगल बनाने के बाद अब हर तरफ हरियाली नजर आती है। कुमें में फैला मिनी जंगल न केवल लोगों को शुद्ध हवा दे रहा है, बल्कि कई तरह के सांप, तितलियों, पक्षियों सहित कई तरह के जीव-जंतु को आकर्षित भी कर रहा है। उनके द्वारा लगाए गए जंगल में 60 से अधिक पेड़ों की प्रजातियों को शॉर्टलिस्ट किया गया था, जिसमें 17 प्रतिशत छायादार पेड़ लगे थे, कुल पेड़ों में से 43 प्रतिशत साधारण पेड़ और बाकि के 30 प्रतिशत और 10 प्रतिशत में उप-वृक्ष और झाड़ियाँ शामिल थीं। उन्होंने इस जंगल में पेड़ लगाने के लिए आंवला, नींबू, नीम, जामुन, आम, पलाश, सागौन, भारतीय बादाम, काला कत्था और ऐसी कई दूसरी प्रजातियों को चुना था।

IAS Abhijeet bangar turned dumpyard into miyawaki forest in navi mumbai

लोगों के लिए बने प्रेरणा

अपने प्रयासों से कभी हिम्मत नहीं हारने वाले और जनप्रिय आईएएस अधिकारी अभिजीत बांगर (IAS officer Abhijit Bangar) पर्यावरण के प्रति बहुत हीं सजग रहते हैं। उनका पेड़-पौधों के प्रति यह प्यार देखने और अनुसरण करने लायक है। उन्होनें अपने सकारात्मक प्रयासोंं से हमे यह सोचने को मजबूर कर दिया है कि हमे भी ज्यादा से ज्यादा पेड़-पौधे तथा बगीचा लगाना चाहिए।

35 COMMENTS

  1. Great ?V I should certainly pronounce, impressed with your website. I had no trouble navigating through all tabs and related info ended up being truly easy to do to access. I recently found what I hoped for before you know it at all. Quite unusual. Is likely to appreciate it for those who add forums or anything, website theme . a tones way for your client to communicate. Nice task..

  2. First of all I want to say excellent blog! I had a quick question which I’d like to ask if you do not
    mind. I was curious to know how you center yourself and clear your head before writing.
    I have had a tough time clearing my mind in getting my thoughts out there.
    I do take pleasure in writing however it just seems like
    the first 10 to 15 minutes are usually lost simply
    just trying to figure out how to begin. Any recommendations or tips?
    Kudos!

  3. Woah! I’m really enjoying the template/theme of this website.
    It’s simple, yet effective. A lot of times it’s difficult to get
    that “perfect balance” between usability and visual appearance.

    I must say you’ve done a amazing job with this. Additionally, the blog loads very
    quick for me on Firefox. Superb Blog!

  4. I got this site from my friend who informed me about this web site and now this time I
    am browsing this site and reading very informative articles
    or reviews at this place.

  5. Attractive portion of content. I simply stumbled upon your blog and in accession capital to claim that I get in fact loved account your blog posts.
    Any way I will be subscribing for your feeds
    or even I fulfillment you get admission to consistently quickly.

  6. I have been exploring for a little for any high-quality articles
    or weblog posts in this kind of area . Exploring in Yahoo I at last
    stumbled upon this website. Studying this info So i am glad to show that I have an incredibly just right uncanny feeling I found out just what
    I needed. I such a lot certainly will make certain to don?t forget this site and give it a look regularly.

  7. This design is steller! You obviously know how to keep a reader amused. Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog (well, almost…HaHa!) Excellent job. I really loved what you had to say, and more than that, how you presented it. Too cool!

  8. Thank you so much for giving everyone remarkably marvellous possiblity to read from this website. It is often so awesome and as well , full of a good time for me and my office co-workers to search the blog no less than three times weekly to read through the fresh items you will have. Of course, I’m just actually fulfilled with all the perfect opinions you give. Selected 2 areas on this page are undeniably the most beneficial we have had.

  9. Very great post. I simply stumbled upon your weblog and wished to mention that I’ve really enjoyed surfing around your weblog posts.
    After all I’ll be subscribing for your feed and I’m hoping you write again very soon!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here