जानिए देश के पहले ‘पुस्तक गांव’ भिलाड़ के बारे में, जहाँ 15000 किताबों के साथ लाइब्रेरी की शुरुआत हुई

1534
indias first village of books bhillar

जैसा कि हम सब जानते है कि महाराष्ट्र का सितारा जिले का भिलार गांव स्ट्रॉबेरी और लीची के खेती के लिए प्रसिद्ध है, यह गांव आपको पुणे से महाबलेश्वर जाने वाले रास्ते मे मिलेगा, इस गांव की आबादी लगभग 10,000 है और इस गांव के अधिकतर लोग किसान है, इस गांव में साल में 100 टन से ज्यादा स्ट्राबेरी का उत्पादन होता है जिससे 50 करोड़ का कारोबार होता है।

आज हम आपको बताएंगे कि ये गांव पहले से तो इन सब चीज़ो के लिए प्रसिद्ध था परन्तु अब ये गांव एक और कारण से प्रसिद्ध है, आपको बता दे कि साल 2015 में निवर्तमान सरकार ने इस गांव को और बेहतर बनाने के लिए इस गांव में पुस्तकालय खोलने का ऐलान किया था। राज्य के निवर्तमान मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने देश के पहले पुस्तक गांव के रूप में इस गांव का उदघाटन किया था, अब इस गांव को “किताबो के गांव” के नाम से जाना जाता है।

15000 किताबे है इस पुस्तकालय में-

आपको बता दे कि भिलार गांव के पुस्तकालय में 15000 पुस्तके है, महाराष्ट्र सरकार ने इसके लिए काफी सहायता की है, इन पुस्तकालय में आपको 15000 मराठी पुस्तके मिलेंगी, इस गाँव की झोपड़ी, मंदिर, स्कूल और रेस्ट हाउस को किताबो की लाइब्रेरी में बदल दिया गया है, अब यहाँ विजिटर्स आके अपनी मनपसंद की किताबें आराम से पढ़ सकते है।

निशुल्क सेवा उपलब्ध-

महाराष्ट्र के मराठी भाषा विभाग ने लाइब्रेरी को अच्छे किताबो के साथ ग्लास की अलमारी, कुर्शी और बीनबैग्स से सजाया है, आप यहाँ मुफ्त में किताबे पढ़ सकते है सिर्फ शर्त इतनी है कि अपने किताबे जहाँ से उठायी है पढ़ने के बाद आपको वापस वही रखना होगा किताबो को।

साहित्य और भाषा से प्रेम करने वाले के लिए ये लाइब्रेरी-

साल 2015 में 27 फरवरी को मराठी दिवस पर बात करते हुए निवर्तमान के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने भिलार में पुस्तकालय योजना की शुरुआत की, ये देश का पहला पुस्तकालय गांव है जो महाराष्ट्र के भिलार में है, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ये पुस्तकालय साहित्य और भाषा प्रेमियों के लिए है।

आपको बता दे कि किताबो के सिवाए इस गाँव में और भी बहुत कुछ है जो यहाँ पर आने वाले लोगो का मन मोह लेगी, इस गांव के सभी लाइब्रेरी के दीवारों पर कविताएं, कला, साहित्य,लोकगीत और धर्म से जुड़ी बाते लिखी हुई है, जिसके लिए महाराष्ट्र सरकार ने 75 कलाकरों को इस काम मे लगाया था।

 

ये हमारे लिए बहुत गर्व की बात है कि भिलार देश का पहला लाइब्रेरी वाला गांव है, आप भी अगर किताबे पढ़ने के शौकीन है तो एक बार इस गांव में अवश्य जाए।

अनामिका बिहार के एक छोटे से शहर छपरा से ताल्लुकात रखती हैं। अपनी पढाई के साथ साथ इनका समाजिक कार्यों में भी तुलनात्मक योगदान रहता है। नए लोगों से बात करना और उनके ज़िन्दगी के अनुभवों को साझा करना अनामिका को पसन्द है, जिसे यह कहानियों के माध्यम से अनेकों लोगों तक पहुंचाती हैं।

33 COMMENTS

  1. Greetings!Tһis is my 1ѕt comment here so I just
    wanted tto give a ԛuick sһout out and say I genuiіnely enjoy reading your articles.
    Can you sugցest any other bⅼogs/websites/forums that deal with the same subjects?
    Appreciate it!

    Also visit my websіte :: link slot gacor

  2. Its like you rеаd my mind! You seem to know ѕo mcһ aboᥙt this, like yyou wгote the
    book in it or something. I tһknk that you ⅽɑn do with some pics to drive the message home a bit, but
    other than that, this іs fantastic blog. A fantastic read.
    I will definitely be back.

    My site – mitra138

  3. ᎻowԀу! I know this is kind of off toрic but I was ѡօndering which bloog pⅼatform are you using for
    this site? I’m getting tireɗ of WorԀpгess because I’ve had problems with
    hackerѕ andd I’m looking at options for another platform.
    I would be fantastiϲ if you coulɗ point me in the direction of a good рlatform.

    My blog; Wonder4D

  4. I’ve been exploring for a little for any high quality articles or weblog posts on this sort of house .
    Exploring in Yahoo I at last stumbled upon this
    web site. Studying this info So i am happy to convey that
    I have an incredibly just right uncanny feeling I discovered just
    what I needed. I most no doubt will make sure
    to do not omit this web site and give it a glance
    on a constant basis.

    Here is my blog filles nues

  5. I was curious if you ever thought of changing
    the structure of your blog? Its very well written; I love what youve got to say.

    But maybe you could a little more in the way of conttent so people
    could connect with it better. Youve got ann awful lot of text
    foor only having 1 or two pictures. Maybe you ccould space it out
    better?

    Feel free to visit my blog Chaturbate

  6. Wow, fantastic blog structure! How long have you ever been blogging for?
    you made running a blog glance easy. The whole glance of your web site is wonderful, as smartly as the content!

  7. In contrast, a single marijuana joint stays in your system for about 7 days
    only. But the exact length depends on how much you consume and whether you’re an occasional or habitual user; it can take up to 30 days for marijuana to leave your system if you use it regularly.

  8. Türkisch ass fick free porn yuzde yuz zorla turk seks kesintisiz porno izle olgun dun yani en büyük got
    rsimleri david villanın frikikleri. Escort pornosu;
    HD Porno; Türkçe porno; Porn teen free videos free kızların mastura
    bay yon anları tamirciye veriyor türkçe hd lolita sikiş yesilcam porno videolar izle.
    admin 09:44.

  9. I do trust all of the ideas you have offered for your post.
    They are really convincing and will definitely work. Still,
    the posts are very short for newbies. May just you please extend them a little from subsequent time?
    Thank you for the post.

    Look at my web site: tracfone special

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here