गरीबी झेली, लोगों के ताने सुने लेकिन नहीं हारी हिम्मत, मेहनत के दम पर बनी भारतीय हॉकी टीम की कप्तान

1047
Inspirational Story of Indian Women Hockey Team Captain Rani Rampal of Hariyana

हमारा समाज हमेशा से ही महिलाओ को लेकर एक अलग सोच रखता आया हैं। हमारे समाज में महिला को लेकर काफी जातती की जाति हैं क्युकी महिला को सिर्फ लोग चार दिवारी में ही रखना पसंद करते आए। लेकिन समाज हमेशा से यह भूलता आया हैं की महिला समाज की वो कड़ी है जिससे यह समाज बना हैं लेकिन इन बात को भूलते हुए वही समाज आज महिला की इज्जत नहीं करता। जिस कारण लोग लड़की को जन्म देते हुए डरते हैं लेकिन आज देश बदला हैं और साथ देश ने अपनी सोच को बदला हैं आज के समय में लड़किया को हर तरह की इज्जत दी जाती हैं जहा आज उन्हे किसी भी क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने की अनुमति होती हैं। हर लड़की लड़का वो काम एक साथ कर रहे हैं जो एक समय पे पुरुष किया करते थे। लेकिन आज वर्तमान में भी कुछ जगह ऐसी हैं जो लड़की लड़के में अब भी भेद भाव रखती हैं जहा उन्हे लगता है की लड़किया लड़को के मामले में हमेशा पीछे ही रहनी चाहिए। जहा आज के समय में भी उन्हे समाज के कही तरह के तानों का सामना करना पड़ता हैं।

आज हम आपको एक ऐसी ही महिला की कहानी बताएंगे। जिसने तमाम लोगो से महिला और पुरुष की भेदभाव की बाते सुनी। लेकिन उनका संकल्प कभी डगमगाया नही और हाॅकी टीम की कप्तान बनकर दुनिया को साबित किया को महिला भी आज के समय में पुरुष से बिलकुल कम नहीं हैं महिला आज वर्तमान में हर क्षेत्र में बाद चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं और हम वो काम कर रही हैं जो पुरुष कर सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में……..

**बहादुर महिला…..

आज हम जिस महिला की बात कर रहे है उनका नाम रानी रामपाल (Rani Rampal) है जो हरियाणा (Hariyana) की रहने वाली हैं। जिसने आज पूरे देश को यह साबित किया को बेटियां बेटो से कम नहीं हैं अगर बेटियां भी कुछ करने का ठान लेती हैं तो वह अवश्य उस चीज को पूर्ण करती हैं।रानी रामपाल जिसने लोगो से कही तरह के ताने सुने वे उनके परिवार ने उनका साथ देने के लिए भी इंकार कर दिया था। लेकिन रानी रामपाल जिन्होने हार नही मानी और अपने सपनो की तरफ चलती गई। जिसके बाद आज वह हॉकी टीम (Hockey Team) की प्लेयर हैं और अभी वर्तमान में रानी रामपाल को उनके काफी अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें हॉकी टीम को कप्तान बनाया गया है।

यह भी पढ़ें:- MA इंग्लिश चायवाली: नौकरी नहीं मिली तो शुरु किया टी स्टॉल, दूर-दूर से लोग चाय पीने आते हैं

**घरवालों को मनाया और शुरू किया अपना कैरियर…….

रानी रामपाल हम सब जानते हैं की हम एक ऐसे समाज में रहते हैं जहा अगर लड़की अपना कैरियर बनाने के लिए कही बाहर जाना चाहती हैं तो उसपे कही तरह के सवाल उठाए जायेंगे, वे उसके सपनो को कही तरीको से तोड़ा जायेगा। रानी रामपाल का कहना हैं जब उन्होंने अपने माता पिता के आगे हॉकी खेलने का प्रस्ताव रखा। तो उनके माता–पिता के साथ उनके रिश्तेदारों ने कही तरह के उनपर सवाल उठाए। क्युकी समाज के लोगो की सोच इस प्रकार थी की उनका कहना था की लड़की घर से बाहर निकल कर घर का नाम खराब करेगी। लेकिन रानी रामपाल ने इन सब बातो को ध्यान न देते हुए। अपने माता–पिता को काफी समझाया वे उन्हे यह विश्वास दिलाया की उनकी लड़की उनका नाम गर्व से ऊंचा करेगी। जिसके बाद उनके माता–पिता किसी न किसी तरह इस बात के लिए मन गए और उन्हे हॉकी खेलने की अनुमति दे दी।

Inspirational Story of Indian Women Hockey Team Captain Rani Rampal of Hariyana

**छोटी सी उम्र में शुरू किया खेलना……

अक्सर जिस उम्र में रानी रामपाल ने खेलना शुरू कर दिया था उस उम्र में बच्चे अपने माता पिता पे निर्भर रहते थे। लेकिन रानी रामपाल जिनका जुनून और आत्मनिर्भर इतना मजबूत था। की उन्होंने खुद को आत्मनिर्भर बनाने का सोचा। जिसके बाद उन्होंने 14 वर्ष की उम्र में अपना पहला इंटरनेशनल मैच खेला। वे धीरे धीरे रानी रामपाल ने कही ऐसे मैच खेले। जिसमे उन्हे कही मेडल भी जीते और साथ ही साथ अपनी एक अलग पहचान भी बनाई। काफी मैच खेलने के बाद रानी रामपाल ने अर्जेंटीना में आयोजित महिला हॉकी विश्व कप में उन्होंने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से भारत का नाम पूरी दुनिया में प्रसिद्ध किया। जिसके बाद उनकी हर जग चर्चा होने लगी।

यह भी पढ़ें:- IIM टॉपर रह चुके इस युवक ने सब्जियां बेचने से शुरु किया था सफर, आज हो रहा करोड़ों का टर्नओवर

**रानी रामपाल को उनके प्रदर्शन को देखते हुए किया सम्मानित……

रानी रामपाल जो आज हॉकी खेल कर अपनी एक ऐसी पहचान बना चुकी है जिसको आज कही लोग हॉकी प्लेयर से जानते हैं लेकिन अब वह हॉकी प्लेयर से हॉकी टीम की कप्तान बन चुकी हैं क्युकी रानी रामपाल जिनमे हॉकी खेलने का जुनून था और जिस जुनून के सहारे आज वह कही तरह के हॉकी मैच खेली। जिसमे उन्होंने अपना। प्रदर्शन काफी बेहतर रखा। जिसको देखते हुए उन्हें राष्ट्रपति द्वारा अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया। जिसके बाद उन्होंने कही मैच खेल कर भारत का नाम गर्व से ऊंचा किया।

**महिलाओ को कही कुछ बाते……

रानी रामपाल जिन्होने बताया की उन्हे अपनी इस मंजिल तक पहुंचने के लिए अपने घरवालों के साथ कही रिश्तेदारों वे कही लोगो के भी ताने सुनने को मिले। लेकिन उन्होंने सबको परे रख कर अपना आत्मसम्मान नही खोने दिया और अपने हौसले बुलंद रखे। क्युकी उन्हे खुद पर इतनी उम्मीद थी की वो किसी भी परिस्थिति का सामना कर अपनी मंजिल को हासिल कर लेगी। तो यही बात उन्होंने बाकी अन्य महिलाओ को भी कही उनका कहना हैं की महिला कभी भी किसी से कम नहीं होती अगर वह कुछ करने का ठान लेती हैं तो वह उस चीज को अवश्य पूरा करती हैं इसलिए रानी रामपाल आज सभी महिलाओ के लिए एक प्रेरणा बनी।

21 COMMENTS

  1. Buy Flexeril (Cyclobenzaprine) from Canada Drugs Online, fast shipping to the USA, low prices.

    Buy Flexeril in USA Cyclobenzaprine for sale VPC However, the patient for the rest of cyclobenzaprine life should not be engaged in sports activities and exclude heavy physical labor, in which the
    shoulder girdle can be used.

  2. I have been surfing on-line greater than 3 hours lately, yet I never discovered any fascinating article like yours. It’s pretty value sufficient for me. In my view, if all webmasters and bloggers made just right content as you probably did, the web shall be much more helpful than ever before.

  3. Thank you for sharing excellent informations. Your website is so cool. I’m impressed by the details that you?¦ve on this site. It reveals how nicely you understand this subject. Bookmarked this website page, will come back for extra articles. You, my pal, ROCK! I found simply the info I already searched everywhere and just could not come across. What an ideal web site.

  4. This design is wicked! You definitely know how to keep a reader entertained.
    Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog
    (well, almost…HaHa!) Excellent job. I really enjoyed what you had to say,
    and more than that, how you presented it. Too cool!

  5. Excellent items from you, man. I have take into account your stuff previous to and you’re just extremely excellent.
    I really like what you have got right here, certainly like what you are stating
    and the best way by which you assert it. You are making it enjoyable
    and you still care for to stay it sensible. I cant wait to read
    far more from you. This is really a tremendous
    website.

  6. Have you ever considered about including a little bit more
    than just your articles? I mean, what you say is
    valuable and all. However just imagine if you added some great images
    or videos to give your posts more, “pop”! Your content is excellent but with pics
    and clips, this blog could undeniably be one of the
    most beneficial in its field. Fantastic blog!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here