जीता- मैन इन इंडिया स्टार्टअप अवार्ड्स, स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए बना रहे हैं- कटहल का आटा।

2213

सपने को साकार करने के लगन ने दिलाया-“स्टार्टअप अवार्ड”

अपने कई बार ये सुना होगा कि बड़ी कंपनी में नौकरी पाने के लिए बहुत से ऐसे शख्श है जो सबकुछ चोर देते है पर आज हम ऐसे शख्श से आप सबको परिचित करवाएंगे। जिसने अपने सपने को साकार करने के लिए अपनी माइक्रोसॉफ्ट जैसी बड़ी कंपनी की नौकरी छोड़ दी।क्योंकि इन्हें कटहल को प्रशिद्ध करना है। उन्हीने बड़ी कंपनी की नौकरी इसलिए छोड़ी क्योंकि वह कटहल के सारे फूड्स आइटम बना के लोगो तक पहुंचा सके।

कौन है ये शख्श जिसने पैसे और सपने में से “सपने ” को चुना:

यह है जेम्स जोशेफ जो केरल के कोची में रहते है तथा माइक्रोसॉफ्ट में काम करते थे । पर अपने सपने को साकार करने के लिए उन्होंने 8 साल पहले ही नौकरी छोड़ दी और अपनी फ़ूड कंपनी शुरू की। क्योंकि वह कटहल को दुनिया भर में प्रसिद्धि दिलना चाहते थे ।

james joseph

इस बात से हम सब वाकिफ है कि सबसे अधिक उत्पादन कटहल का केरल में होता है और इसकी खासियत यह है कि इसे हम सब्जी और फल दोनो के साथ कई तरह से इस्तेमाल कर सकते है।

सपने की शुरुआत:

हम देखते है कि आखिर यह सब शुरू कब हुआ एक बार जेम्स अपने मित्रों के साथ होटल ताज गए खाना खाने। वहाँ पर उन्होंने मशरुम और मीट खाया। परंतु जेम्स को लगा कि इन दोनों से ज़्यादा सेहतमंद तो कटहल है। तो ये क्यों नही बनाया गया। उनसे रहा नही गया।

और आखिरकार उन्होंने शेफ से पूछ ही लिया कि इनदोनों से अधिक तो कटहल सेहतमंद हैं तो आपने ये क्यों नही बनाया। तब शेफ ने अपनी परेशानी बताते हुए बोला-“कि एक तो कटहल पूरे साल नही मिलता है और कटहल महकता भी है और चिपकता भी हैं इसलिए हम इसे नही बनाते”।

जेम्स को यह बात खटकी तो उनहोनर मन बनाया की जब कटहल का मौसम आएगा तब वो शेफ से व्यंजन बनवाएंगे और उन्होंने ऐसा ही किया । उन्होंने आलू टिक्की बर्गर की जगह कटहल बर्गर बनवाई जो कि बहुत ही स्वादिष्ट था और यह से उन्होंने अपने सपने की नींव रखी।और अपना फ़ूड बिज़नेस शुरू किया।

दृढ़ निश्चय ने सफल बनाया:

जब वह अपने शहर आये उन्होंने कटहल की प्रोसेसिंग शुरू करने की सोची। तब उन्हें पता चला कि कटहल में पानी की मात्रा ज्यादा होती हैं। तो कटहल को स्टोर करने के लिए फ्रीज- ड्रायर का सहारा लेकर हम साल भर इसे स्टोर कर के रख सकते हैं। और इससे एक और काम यह भी होगा कि यह पूरे साल बाजार में मिल सकता हैं।

जेम्स के प्रोसेसिंग यूनिट-अप और बिज़नेस का नाम –“JACKFRUIT-365” हैं। उन्होंने यह नाम इस तर्क पे रखा क्योंकि 365 दिन लोग इसको कहा सकते है।

जब 2013 में जेम्स ने अपना बिज़नेस शुरू किया तब सिर्फ कटहल के प्रोसेसिंग कर के स्टोर करना शुरू किया। प्रोसेसिंग के बाद 82% तक वजन ने कम हो जाते हैं। इसके एक फायदा ये होता हैं कि यातायात लागत और मेहनत दोनो कम लगती हैं।

180 ग्राम के पैकेट का आप सामान्य तापमान पर साल भर स्टोर कर के रख सकते हैं। जब कोई ग्राहक इसे हल्के गर्म पानी मे डालेगा तो यह लगभग आपको 1 किलोग्राम कटहल मिलेगा।

जब जेम्स का फ्रोजेन कटहल का काम सफल हो गया तो उन्होंने कटहल का आटा लॉन्च किया। सुनने में थोड़ा अटपटा लगे पर उन्होंने ये कर के दिखाया । जेम्स 49 वर्ष के हैं और इसके लिए जेम्स को “नेशनल स्टार्टअप इंडिया” अवार्ड भी मिला।

जैसे कि हम सब जानते है कि कटहल फाइबर से भरपूर हैं और डाइबिटीज़ मरीजो के लिए कार्बोहायड्रेट का कटहल अच्छा जरिया हैं। कटहल में ग्लुकोज़ लेवल गेहू , चावल से काफी कम होता हैं।

2014 की बात हैं कि जमव्स पुजारी से बात कर रहे थे कि वह चावल के स्थान पर कच्चा कटहल खाते हैं और इसका परिणाम यह है कि उनका इन्सुलिन कम होने लगा। क्योंकि कटहल फाइबर से भरपूर हैं और आसानी से पच जाता हैं। और शुगर को भी कम करता हैं।

प्रेरणा ले कर सपने साकार करने तक का सफर:

जेम्स ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ. A.P.J.अब्दुल कलाम से प्रेरणा ली। और उन्होंने कटहल को सामान्य डाइट में शामिल करने की सोची । जेम्स ने अपनी पुस्तक-“गॉड ऑन आफिस” छपवाइ। इस पुस्तक को जब राष्ट्रपति कलाम ने पढ़ा तो प्रभावित हो कर जेम्स को मिलने बुलाया। तभी जेम्स ने अपने सपने के बारे में कलाम को बताया।

जेम्स बताते हैं-“कुछ मिनट शांत रहने के बाद उन्होंने कहा की हमे लोगो के दैनिक खानपान में जोड़ने के बारे में सोचना चाहिए। अगर रास्ता मिल गया तो मैं आपकी मार्केटिंग में मदद करूँगा।परंतु दुर्भाग्यपूर्ण वह हम सबको छोड़कर चले गए।लेकिन उनकी शुभकामनाएं आज भी मेरे साथ हैं”।

5 वर्ष बाद जेम्स को सफलता मिली और वह कटहल का आटा बनाने में कामयाब हुए परंतू इसके लिए उन्हें बहुत से असफलताओं को भी देखना पड़ा।

जेम्स इसमे सफल तो हो गए परंतु अभी परेशानी पूरी तरफ से खत्म नही हुए थीं। क्योंकि उन्हें आटा ऐसा बनाना था कि उत्तर भारत मे रोटी बनाने के काम आए दक्षिण भारत मे इडली और डोसा। परन्तु उनकी मेहनत रंग लाई और आखिरकार उन्होंने कटहल का आटा तैयार कर ही लिया। कटहल की आटे की कीमत 10 रुपये प्रतिदिन हैं।जो कि इन्सुलिन के एवज़ में काफी सस्ता हैं।

सपने से धरातल पर उतारने की कोशिश:

2018 में जेम्स ने इसे प्रयोग करने के बारे में सोचा डॉ. नायर जिन्हें डाइबिटीज़ हैं। उन्होंने इस आटे का सेवन किया जिससे उनका शुगर कम होने लगा तथा फोर्ब्स और कोलेस्ट्रॉल भी कम हुआ। नायर हफ्ते में लगभग 3 बार एक्सरसाइज करते है तथा 60-70 किलोमीटर दौड़ते हैं।

नायर बताते है उन्होंने दवाइ के साथ आटा का ज़वाब भी शुरू किया और उन्हें लगा कि आटा और 2 गोली शुगर को कम कर रहे हैं। 3 महीने खाने के बाद मेरा टेबलेट और इन्सुलिन इन्टेक कम हो गया। अब मैं 4 महीने से सिर्फ आटा का सेवन करता हूं कोई दवाइयां नही खाता।

यह जगजाहिर है कि कटहल से ब्लड शुगर कम होता हैं इसलिए डाइबिटिक मरीजों के लिए ये एक वरदान साबित हुआ। अमेरिकन डाइबिटीज़ एसोसिएशन ने बताया कि हेमिग्लोबिन,FBG और PPG कटहल से कम होता हैं।इसलिए डाइबिटिक मरीजो को नियमित इसका सेवन करना चाहिए।

हर दिन अगर आप कटहल का 30 ग्राम आटा भी सेवन करते हैं तो आपके लिए उत्तम हैं।यह जेम्स का कहना है।

और इस महामारी जिससे पूरी दुनिया परेशान हैं। इस समय भी डाइबिटीज़ मरीजो के लिए वरदान साबित हुआ कटहल का आटा।

अगर आप जेम्स से संपर्क करना चाहते है तो info@ jack fruit 365.com पर ईमेल कर उनसे जुड़ सकते हैं।

100 COMMENTS

  1. I am really loving the theme/design of your weblog. Do you ever run into any browser compatibility issues? A handful of my blog audience have complained about my website not working correctly in Explorer but looks great in Safari. Do you have any suggestions to help fix this issue?

  2. Hey there! Someone in my Facebook group shared
    this website with us so I came to give it a look. I’m
    definitely loving the information. I’m book-marking and will be tweeting this to my
    followers! Great blog and outstanding design and style.

  3. My partner and I stumbled over here by a different page and thought I might as well check things out.
    I like what I see so i am just following you. Look forward
    to looking at your web page again.

    Feel free to visit my web site … Mesin138

  4. Hi there, I found your website by way of Google at the same time as searching for a comparable topic, your site came up,
    it seems to be good. I have bookmarked it in my google bookmarks.

    Hi there, simply changed into alert to your weblog thru Google, and found that it’s truly informative.
    I’m going to be careful for brussels. I’ll be grateful if you happen to continue this in future.
    A lot of other folks will be benefited out
    of your writing. Cheers!

    Also visit my web blog :: http://www.datasciencefaqs.com

  5. I must thank you for the efforts you have put in writing this blog.

    I really hope to view the same high-grade blog posts
    by you in the future as well. In truth, your creative writing abilities has motivated me to
    get my own site now 😉

    Also visit my blog; Mesin 138 Slot

  6. Firxt of all I want to say awesome blog! I hаd a quick questiоn in which I’d like to ask
    if you do not mind. I was curious to find out hⲟw you cenhter
    yourself and clear your head prior to writing.
    I’ve had a dіfficult time cleaгing my thouցhts iin getting my ideaѕ out therе.
    I do take pleasure in writing bᥙt it just seems
    like the first 10 to 15 minutes are usually lost just trʏing to figure out how to begin. Any iԁeas or
    tipѕ? Thanks! http://www.kingoftheserver.org/wiki/index.php/User:MicahZ8421

  7. Coming up with a powerful brand name that can catch on among its target audience and seamlessly carry the image and values of a company is indeed
    a tough name of your brand will determine how someone feels about whatever you are trying
    to sell — your product, book, service or course.

  8. Added by erotiksinema on Sahilde sex izle. Birbirinden güzel 6 genç kız arkadaş, yatılı kaldıkları kolejin yaz tatili kampına katılarak sahil boyunda bir kasabaya
    giderler. Kızlar yurdundan gelenlerin olduğunu duyan yakışıklı yerli erkekleri, bu
    kızlarla birlikte olmak isteyeceklerdir. Six Swedish Girls in a.

  9. With havi so mucһ written content do you
    ever run into any problems of plagorism or
    copyright violation? My websіte haѕs a lot off completely unique cοntent I’ve either authored myself oor outsourced
    but it seems a lot ⲟf it iss popping it up all over tһe
    web without mу agrеement. Do you know any techniques to
    help reduce ϲontent from being ѕtolen? I’d truly appreciate
    it.

  10. Very niⅽe post. I simply stumbled upon your blog aand
    wanteԀ to say that I’ve truly loved ssurfing around yօur ԝeblog posts.
    In ɑny case I’ll be subscribing on your rss feed and I
    hope you write once more very sоon!

  11. Нello there I am so excited I found your blog paցe, I really found you by accident,
    while I was searcһing on Askjeeve for sօmething else, Anyyways I аmm
    here now and would just like to say thank you fоr a marvelⲟus post and a aаll round interesting blog
    (I also love the theme/design), I don’t haνe time to read
    through it all at the minute but I have book-marked it annd also added
    in yopսr RSS feeds, so when I habe timе I will be bacdk to гead a great deal
    more, Please do keep uρ the superb jo.

    Feel free to visit my web site; cara daftar wahyupoker

  12. Hoѡdy would you mind sharing which blog pⅼatform you’re working
    with? I’m lɑnning to start my own blog soon bbut I’m haᴠing
    a tough time making a decision Ƅetween BlogEngine/Wordpress/B2evօlution and
    Drupal. The reason I ask is because your design sees different then most blogs
    and I’m looking for something completely unique.
    P.S Ꮪorry for gettiung off-topic but I had to ask!

    My website: bandarqq

  13. Տimply want to say your article iis as surprising.

    Thе clearness on yoir submit is just excellent and
    i could think you’re a professional on this subject. Ϝine
    togeether with your permissіon allow me to take hoⅼd of your feed to stay up to date with approaching post.
    Thanks one milllion ɑnd please ϲontinuje the rewaгding work.

    Also visit my blog post: info lebih lengkap

  14. Hey I knoᴡ this is off topiⅽ but I was wondering if you knew of any widgeets I could aadd to my blog that automɑtically tweet
    my newest twitter updates. I’ve been looking for a plug-in like tis for ԛuiսte some time and was hoping mayƄe yoᥙ would have some experіence with
    something like this. Please ⅼet mee know iif you
    run into anytһing. I truly enjoү reɑding
    your bloog and I look forward to your new updates.

    Feeel free to surf to my page … kunjungi situs

  15. Needed to send you that tiny word to be able to say thank you yet again over the awesome secrets you have featured in this article. This is certainly pretty generous of people like you to allow publicly exactly what many people could have offered as an e-book in making some dough for themselves, precisely considering that you could possibly have done it in the event you considered necessary. These solutions in addition acted to become a easy way to fully grasp other people have a similar desire the same as my very own to figure out much more with reference to this issue. I think there are several more pleasurable instances up front for many who scan through your blog post.

  16. Great blog here! Also your website loads up fast! What host are you
    using? Can I get your associate hyperlink on your host?
    I want my site loaded up as fast as yours lol

    Also visit my web page :: Nexus

  17. Howdу! Do you know іff tһey make anny ⲣlugins to
    assist with SEO? I’m tryіng to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m
    not seeing ѵery good rеsults. If you kow of any please share.
    Thanks!

  18. My brother reϲommended I may like this bl᧐ɡ.
    He was totally right. Thhis sᥙbmit actually made
    my dаy. You cann’t consider just how a lot time I had spent for this
    infoгmation! Thanks!

  19. You reɑlly mаke itt seem so easy along ԝith your presentation but I
    to find this topicc to be really somеthing whch
    I fеel I woulԀ never understand. Ιt sort of feels too complicated аnd very large
    for me. I’m taking a look forѡard in your sujbseqᥙent post, I will try to get the hang of it!

  20. It’s a pіty ʏou don’t have a donate button! I’d ɗefinitely donate to this eҳcellent blog!
    I suppose for now i’ll sеttle ffor booк-marking and adding your RSS feed to my Google account.
    I look forward to fresh updates and will taok аbout this site with my Facebook gгoup.
    Chat soon!

  21. My brother recommended I might lіke this blog.He was entirely right.
    This post аctually made my day. You cann’t imagine just how much time I had spеnt for this infο!
    Thanks!

  22. Gret ցoodѕ from yoᥙ, man. I have understand yur
    stuff previous to and you are just too magnificent. Irealҝly like what
    yоu’ve acuired here, certainly liқe what you are saying
    and the way in wһich you say it. You make it enjoyable and youu still care for to keep it sensible.

    I can’t wait to read far more from you. This is actսally a great site.

  23. hey there and thank you for your info – I’ve certainly picked up something new from right here. I did however expertise some technical points using this site, as I experienced to reload the website a lot of times previous to I could get it to load properly. I had been wondering if your web hosting is OK? Not that I am complaining, but sluggish loading instances times will sometimes affect your placement in google and can damage your quality score if advertising and marketing with Adwords. Well I am adding this RSS to my email and could look out for a lot more of your respective exciting content. Make sure you update this again soon..

  24. Hiya, I am really glad I’ve found this information. Nowadays bloggers publish only about gossips and internet and this is really annoying. A good website with exciting content, this is what I need. Thanks for keeping this web-site, I’ll be visiting it. Do you do newsletters? Can not find it.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here