जमीन पर चलने के साथ ही हवा में भी उड़ती है यह कार, जानिए इस फ्लाइंग कार की कुछ खास बातें

494
know about this amazing flying car

आज विज्ञान इतना आगे बढ़ चुका है कि प्रतिदिन कोई न कोई नया अविष्कार होते ही रहता है, जैसे अभी हाल में ही वैज्ञानिकों ने ऐसे कार का अविष्कार किया है जो आकाश में उड़ सकता है, जी हाँ ये सुनने में थोड़ा अटपटा लग सकता है परन्तु ये सत्य है, आइए जानते है इस कार के बारे में और भी खास बातें।

कड़ी मेहनत का परिणाम है ये कार-

इस कार को बनाने में 30 वर्ष की मेहनत लगी है स्लोवाकिया कंपनी को, इस फ्लाइंग कार का प्रशिक्षण कुछ ही दिन पहले हवाई अड्डे में हुआ है। आपको बता दे कि ये कार जमीन पर भी चलती है जमीन पर कुछ देर चलने के बाद ये कर हवा में उड़ने लगती है। यह हाइब्रीड कार एयरक्राफ्ट , एयर कार, बीएमडब्ल्यू इंजन से लैस है, इसे चलाने के लिए पेट्रोल पंप ईंधन का उपयोग किया गया है।

सिर्फ 15 सेकंड में उड़ने लगता है-

इस फ्लाइंग कार का निर्माण प्रो स्टीफन क्लेन ने किया है, वो कहते है कि यह कार लगभग 1000 किलोमीटर (600 मिल), 8200 फ़ीट (2500) मीटर की ऊँचाई पर उड़ सकती है, आपको ये बात जान कर हैरानी होगी कि ये कार सिर्फ 15 सेकंड में एयरक्राफ्ट में बदल जाती है और 40 घंटे तक उड़ान भर सकती है।

2 लोग कर सकते है सवारी-

इस कार की प्रशिक्षण के समय बताया गया है कि इसकी सवारी बहुत आनंददायक है, यह कार हवा में लगभग 170 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ती है, आपको बता दे कि इस कार में 31 स्टोन मतलब 200 किलोग्राम समान के साथ 2 व्यक्ति सवारी कर सकते है।

उड़ान के लिए रनवे की आवश्यकता-

जैसे ड्रोन टैक्सी प्रोटोटाइप उड़ान भरती है वैसे ये कार लंबवत उड़ान नही भरती है, बल्कि इस फ्लाइंग कार को उड़ान भरने के लिए रनवे की आवश्कयता पड़ती है।

हमारे लिए ये बहुत गर्व की बात है कि वैज्ञानिकों ने ये अनोखा अविष्कार किया है जिससे कि विज्ञान एक और कदम आगे बढ़ा है।

अनामिका बिहार के एक छोटे से शहर छपरा से ताल्लुकात रखती हैं। अपनी पढाई के साथ साथ इनका समाजिक कार्यों में भी तुलनात्मक योगदान रहता है। नए लोगों से बात करना और उनके ज़िन्दगी के अनुभवों को साझा करना अनामिका को पसन्द है, जिसे यह कहानियों के माध्यम से अनेकों लोगों तक पहुंचाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here