गांव वालों की मेहनत को सलाम : 20 साल की कड़ी मेहनत से बंजर पड़ी भूमि को किया हरा-भरा, 1,030 एकड़ जमीन को जंगल में तब्दील कर दिया

828
Madhya pradesh villages turned barren land into forest

अक्सर हमने सुना है कि “मेहनत का फल मीठा होता है।” यानी एक फल के पीछे भी लाखों जड़ों की मेहनत होती है तब जाकर वो मीठा बनता है। आज हम बात करेंगे, MP के ऐसे 2 गांवों के बारे में, जहां के लोगों ने 20 साल तक मेहनत कर बंजर पड़ी भूमि को 1,030 एकड़ के जंगल में बदल दिया है।

लगातार मेहनत कर बंजर जमीन को दिया, हरे-भरे जंगल का रूप

बंजर पड़ी भूमि को हरियाली में बदलने वाले वे 2 गांव का नाम मानेगांव (Manegaon) और डूंगरिया (Dungaria) है, जो MP (Madhya Pradesh) के सागर जिले में बसे हैं। इन दोनो गांव के ग्रामीणों ने 20 साल तक लगातार मेहनत कर जिस तरह से बंजर जमीन को 1,030 एकड़ के एक हरे-भरे जंगल में बदला वो एक मिसाल है
कब हुई इसकी शुरुआत?

आईएएनएस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इफको की एक परियोजना के साथ इसकी शुरुआत हुई थी। इफको ने स्थानीय लोगों के लिए रोजगार और ईंधन प्रदान कराने के लिए 12 अक्टूबर 1998 को, एक पायलट परियोजना के हिस्से के रूप में एक जंगल विकसित करने के लिए एक बंजर पहाड़ी के खंड पर दो लाख पेड़ लगाए।

Madhya pradesh villages turned barren land into forest

जंगल की देखभाल के लिए, ली गई ग्रामीणों की मदद

बता दें कि, भारत-कनाडाई पर्यावरण सुविधा द्वारा इस परियोजना को वित्त पोषित किया गया था तथा ग्रामीणों से इस जंगल की देखभाल करने के लिए मदद ली गई और उन्हें 5,000 रुपये प्रति माह का वजीफा दिया गया था।

ग्रामीणों ने की फ्री में पौधों की देखभाल

ICEF की फंडिंग साल 2002 में खत्म हो गई और ग्रामीणों को प्रति माह का वजीफा मिलना बंद हो गया, जिसके कारण गांव के लोगों ने काम करना बंद किया। फिर क्या कुछ महीनों के भीतर हीं पौधे मरने लगे। लेकिन जब ग्रामीणों ने पौधे को मरते हुए देखा तो फिर से पौधों की देखभाल फ्री में करना शुरू कर दिया।

Madhya pradesh villages turned barren land into forest

पेड़ों की देखभाल करने के लिए ग्रामीणों को किया गया प्रोत्साहित

एक रिपोर्ट्स के मुताबिक, ग्रामीणों को पेड़ों की देखभाल करने के लिए स्थानीय किसान और सामाजिक कार्यकर्ता रजनीश मिश्रा ने प्रोत्साहित किया था।

रजनीश मिश्रा ने बताया कि, ‘ जो पौधे इफको के द्वारा यहां लगाए गए थे, वे लगभग मर गए थे। उन पौधों को ज्यादा देखभाल और सिंचाई की आवश्यकता थी, लेकिन गांव के लोगों ने अपने मेहनत से फिर से सभी पौधों को जीवित किया।’

उन्होंने आगे बताया कि, ‘पौधों को फिर से जीवित करने के लिए गांव वालों ने मेहनत के साथ खूब त्याग भी किया। उनलोगो ने मानवीय गतिविधियों और मवेशी चराने के लिए खुद को रोका, जिसके बाद धीरे-धीरे पेड़ों की जड़ें फिर से अंकुरित होने लगीं। आज इस जंगल में कई पेड़ हैं, जिनमें से 70 प्रतिशत सागवान (सागौन) हैं।’

मध्य प्रदेश के 2 गांवों के लोग ने जो पर्यावरण के प्रति प्रेम दिखाया है और जिस प्रकार लगातार 20 साल तक मेहनत कर बंजर पड़े जमीन पर हरे-भरे जंगल को उगाया है, वो हमारे लिए प्रेरणा और सीख दोनों है।

22 COMMENTS

  1. F089 samantha ryan lesbian (20,089 results) Report Sort by
    Relevance Video quality Viewed videos Next 720p Samantha Ryan, Allie Haze and Isis Taylor Lesbian 3Some 6 min Girlfriends Films 1.1M Views 720p Samantha Ryan And Aryana Augustine Fingering Each Other 6 min Girlfriends Films 651k Views 720p.

  2. I am no longer sure where you’re getting your info, however good topic. I must spend some time finding out much more or working out more. Thanks for excellent info I used to be in search of this info for my mission.

  3. I know this if off topic but I’m looking into starting my own blog and was wondering what all is needed to get set up? I’m assuming having a blog like yours would cost a pretty penny? I’m not very web savvy so I’m not 100 certain. Any recommendations or advice would be greatly appreciated. Kudos

  4. Hey There. I found your blog using msn. This is a really well written article. I’ll be sure to bookmark it and return to read more of your useful info. Thanks for the post. I will definitely return.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here