IT सेक्टर का जॉब छोड़ , नए तकनीक ( हाईड्रोपोनिक्स) से कमाया पाँच साल में 2 करोड़ रुपये

1527

इंसान अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए , शुरू से ही प्रकृति से खेलता आया है। प्रदूषण, दुर्घटना, बीमारिया, ये तो हमारे जीवन का हिस्सा ही बन चुकी हैं। इस कोरोना के कहर ने हमे बहुत कुछ सिखाया। हमे फ़ास्ट फ़ूड के बिना भी जिना सिखाया, स्वास्थ्य ही सबकुछ है, ये भी बताया। इसी क्रम में लोग पेड़ पौधो के काफी करीब आये, इसकी महत्ता को समझें।
कुछ ने अपने खाने योग्य सब्ज़ियों के पौधें लगाए तो कुछ ने घरों की खूबसूरती बढ़ाने वाले।
आमतौर पर हमें पौधों से ज्यादा उसमे प्रयोग किये जाने वाले मिट्टी का ध्यान रखना होता है, उनके पोषण के बारे में सोचना होता है, उनकी उर्वरता का ख्याल रखना पड़ता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मिट्टी के बिना भी पौधे उगाये जाते हैं। जी हां, आज हम इसी को पढ़ेंगे।
टेक्नोलॉजी के मामले में तो हम प्रतिदिन आगे बढ़ते जा रहे हैं। आज हर मुस्किल चीज़ आसान लगती है। तो जिस तकनीक से बिना मिट्टी की पौधें उगाये जाए, उसे कहते हैं:- हाईड्रोपोनिक्स। इस नाम को आज बहुत से लोग नही जानते, लेकिन इसको एक एक इंसान तक पहुँचाने का जिम्मा उठाया है – श्रीराम गोपाल ने।


34 साल के गोपाल चेन्नई के रहने वाले हैं। गोपाल ने इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रिकल में स्नातक किया है। यही नही , उन्होंने उसके बाद स्ट्रैटजी और मार्केटिंग में मास्टर्स भी किया है, जिसके लिए वो यूनाइटेड किंगडम गए।
गोपाल के पिता का नाम गोपालकृष्ण है, जिनका एक प्रिंटिंग का कारखाना है। उनके पिता बहुत ही कर्मठ हैं। लेकिन तबियत ठीक नही रहने की वजह से उन्हें अपना कारखाना 2007 में बन्द करना पड़ा।गोपालकृष्ण का कारखाना ही नही बल्कि कई फ़ोटो लैब भी थे। उन्हें हाई एंड कैमरे का बहुत ज्यादा शौक था। अपने पिता के शौक को पूरा करने के लिए श्रीराम एक हाइ एंड कैमरे की दुकान की योजना बना रहे थे।
श्रीराम, 5 साल IT कंपनी में भी काम कर चुके हैं। एक दिन उनके किसी मित्र ने उन्हें यूट्यूब पर हइड्रोपोनिक्स का एक वीडियो दिखाया। इस वीडियो ने उन्हें बहुत ज्यादा आकर्षित किया। उन्हें ये बहुत नया और सटीक लगा।
हम सब जानते हैं कि हमारा देश भारत एक कृषि प्रधान देश हमेशा से रहा है। श्रीराम को लगा कि इस हाइड्रोपोनिक्स तकनीक से हम इस कृषि प्रधानता को संरक्षित रख सकते हैं। जनसंख्या भी बढ़ रही है, लोग प्रवास भी कर रहे हैं, युवाओं का खेती से रुझान दूर होता जा रहा है, पेड़ काटे जा रहे हैं, जल का दुरुपयोग हो रहा है। श्रीराम का कहना है कि क्यों न हम कृषि को भी उद्योग की तरह देखे, एक अवसर की तरह देखे। तो हमे इसमे बहुत सफलता मिलेगी।


जब श्रीराम ने इस नए तकनीक पर काम करने का फैसला किया तो जगह की जरूरत थी। उनके पिता का कारखाना तो बन्द हो ही चुका था, तो उसी के रूफटॉप पर उन्होंने इस काम को शुरू करने का मन बनाया। साथ ही उनके पिता भी इस काम मे सहयोग के लिये तैयार थे। भला पेड़ पौधे किसको आकर्षित नही करते। सबको पसंद ही कि उनके आस पास हरियाली हो, स्वच्छ पर्यावरण हो। श्रीराम ने अपने पिता के स्वास्थ्य में उन्नति देखते हुए इस काम को बड़े पैमाने पर करने का फैसला किया।
उन्होंने ऐसे ही काम नही शुरू किया। पहले श्रीराम इस हइड्रोपोनिक्स टेक्नोलॉजी से जुड़े लोगों से मिले, विदेशी लोगो से भी जानकारी ली, जिससे सही ढंग से काम को आगे बढ़ाया जा सके। वो चाहते थे कि हइड्रोपोनिक्स को वो भारत की तरफ से दिखाए और बाहर से लोग खुद ही यह इन्वेस्ट करें।
5 लाख रुपये का इन्वेस्टमेंट कर के श्रीराम ने कुछ विदेशी कंपनियों के सहयोग से कंपनी स्थापित कर ली। इस नई कंपनी का नाम रखा गया – फ्यूचर फार्मर्स
धीरे धीरे इस काम ने अच्छा रफ्तार पकड़ लिया और महज 5 साल के अंदर ही कंपनी को पूरे 2 करोड़ का टर्नओवर हुआ, जो की बहुत सराहनीय है।सबसे बड़ी उपलब्धि है कि ये कंपनी प्रति वर्ष 300% मुनाफे के साथ आगे बढ़ रही है। जहाँ 2015-16 में इसका टर्नओवर 39 लाख था , वही 2016-17 तक ये आकड़ा 2 करोड़ तक पहुच गया।
60 युवाओं की टीम इस काम मे अपना योगदान दे रही है। इन्वेस्टमेंट की बात करे तो लगभग इसमे 2.5 करोड़ रुपये लगाए जा चुके हैं। लेकिन इसमें केवल श्रीराम का ही लागत नही है बल्कि 15 लोगो ने अपने तरफ से इसमे आर्थिक रूप से योगदान दिया। इसमे 12 लोगो को शेयर की हिस्सेदारी है।
इस तकनीक के बारे में श्रीराम ने बताया कि शहर में लोग बहुत आसानी से हइड्रोपोनिक्स का इस्तेमाल कर के अपने फ्लैट्स में भी पौधे आसानी से उगा सकते हैं। आपको यहां मिट्टी की चिंता भी नही करनी होगी।


हाईड्रोपोनिक्स तकनीक में आपको लकड़ी का बुरादा, बालू, और छोटे कंकरों को पानी में मिलना होता है। और पौधों को पोषण तो चाहिए ही, उसके लिए एक विशेष घोल तैयार कर के मिलाया जाता है।
पतली नली और पंप का इस्तेमाल कर के पौधों तक ऑक्सिजन भी पहुचाया जाता है। इस तकनीक की सबसे अच्छी बात ये है कि इसमें बाकी खेती की तुलना में 90% कम पानी का प्रयोग होता है। आपको इसमे किटनाशक डालने की भी जरूरत नही पड़ती और उत्पादन भी बहुत अच्छा होता है।
ट्रांसपेरेशिंग मार्केट रिसर्च के बारे में बात करे तो, ये बताता है कि वर्ष 2016 में ग्लोबल हइड्रोपोनिक्स ने लगभग 6,934.6 मिलियन डॉलर की कमाई की और भविष्य में ये और तेज़ी से वृद्धि करेगा। और यदि बात हइड्रोपोनिक्स किट के लागत की करे तो इसका मूल्य 1000 से 70000 के बीच होता है। इसी को कंपनी बना के अपने वेबसाइट के जरिये लोगो को किट उपलब्ध कराती है।
यदि आप 200 से लेकर 5000 स्क्वायर फिट का हइड्रोपोनिक्स फार्म बनाना चाहते हैं तो आपको 1 लाख से लेकर 10 लाख रुपये तक का निवेश करना पड़ेगा।
श्रीराम के इस अद्भुत खोज और कठिन परिश्रम से हमे नए नए चीज़ों को सीखने की प्रेरणा लेनी चाहिए। और याद रखें- आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है। स्वस्थ रहे, प्रसन्न रहें

64 COMMENTS

  1. Whats up very cool website!! Guy .. Excellent .. Amazing .. I will bookmark your web site and take the feeds additionally? I’m happy to find so many useful information right here in the submit, we want work out extra techniques in this regard, thank you for sharing. . . . . .|

  2. Very good blog you have here but I was wondering if you knew of any message boards that cover the same topics discussed in this article? I’d really like to be a part of community where I can get advice from other knowledgeable individuals that share the same interest. If you have any recommendations, please let me know. Cheers!|

  3. Hi there superb website! Does running a blog such as this require a large amount of work? I’ve absolutely no expertise in programming however I had been hoping to start my own blog in the near future. Anyways, should you have any ideas or techniques for new blog owners please share. I understand this is off topic however I simply needed to ask. Many thanks!|

  4. Hi! This is my first visit to your blog! We are a collection of volunteers and starting a new initiative in a community in the
    same niche. Your blog provided us useful information to work on.
    You have done a outstanding job!

  5. Hello! I could have sworn I’ve been to this website before but after
    checking through some of the post I realized it’s new to me.
    Anyhow, I’m definitely happy I found it and I’ll be
    book-marking and checking back frequently!

  6. Hello There. I discovered your weblog the use of msn. This is a very neatly written article.

    I will be sure to bookmark it and come back to learn extra of your useful
    info. Thank you for the post. I’ll definitely return.

  7. Please let me know if you’re looking for a
    article author for your blog. You have some really great posts and I think I would be a good asset.

    If you ever want to take some of the load off, I’d really like to write some material
    for your blog in exchange for a link back to mine.
    Please send me an email if interested. Thanks!

  8. Pretty part of content. I just stumbled upon your site and in accession capital to assert that I acquire actually enjoyed account your blog posts.
    Anyway I will be subscribing for your augment and even I achievement you get right
    of entry to constantly fast.

  9. Hello, Neat post. There’s an issue along with your web site in web explorer, would test this?
    IE still is the marketplace chief and a large part
    of folks will miss your wonderful writing
    because of this problem.

  10. Attractive section of content. I just stumbled upon your blog
    and in accession capital to assert that I acquire actually enjoyed account your blog posts.

    Anyway I’ll be subscribing to your augment and even I achievement you access consistently rapidly.

  11. Thanks for finally talking about > IT सेक्टर का जॉब छोड़ , नए तकनीक ( हाईड्रोपोनिक्स) से कमाया पाँच साल में
    2 करोड़ रुपये – KhetiTrend.in < Liked it!

  12. A person necessarily assist to make seriously articles I might state.
    This is the very first time I frequented your web page
    and thus far? I amazed with the analysis you made to make
    this actual submit extraordinary. Wonderful job!

  13. Greetings from Los angeles! I’m bored to tears at work so I decided
    to check out your website on my iphone during lunch break.
    I love the info you present here and can’t wait to take a look when I get home.
    I’m shocked at how quick your blog loaded on my cell phone
    .. I’m not even using WIFI, just 3G .. Anyways, good blog!

  14. Hello! This is my first visit to your blog!

    We are a group of volunteers and starting a new initiative in a community in the same niche.
    Your blog provided us valuable information to work on. You have
    done a wonderful job!

  15. Hi there! I know this is kind of off topic but I
    was wondering if you knew where I could find a captcha plugin for my
    comment form? I’m using the same blog platform as
    yours and I’m having difficulty finding one?
    Thanks a lot!

  16. Its such as you learn my mind! You seem to
    grasp so much approximately this, like you wrote the ebook in it
    or something. I think that you simply could do with a few % to pressure the
    message house a little bit, but instead of that, that is magnificent blog.
    A fantastic read. I’ll definitely be back.

  17. Looking at this article, I miss the time when I didn’t wear a mask. slotsite Hopefully this corona will end soon. My blog is a blog that mainly posts pictures of daily life before Corona and landscapes at that time. If you want to remember that time again, please visit us.

  18. A wedding between a Chinese man and his partner ended at the
    venue after the groom played a naked video of the bride having
    sex with her brother-in-law in front of shocked guests. The wedding reportedly
    took place in the province of Fujian in south-eastern China last Thursday.
    According to online reports, the five-minute sex tape was played at the event in front of
    family and friends to.

  19. Bıçaklayan şahsın Ankara’dan kızla görüşmek üzere Giresun’a geldiği belirlendi.
    genç kızın daha önce de aynı kişi tarafından kaçırıldığı
    ortaya çıktı. Cem Çarşamba 23:19 Alınan bilgiye göre, Bulancak
    ilçesi Yalı Mahallesi’nde ailesi ile birlikte oturan Sıla Ş.
    (16) isimli genç kız, evde bıçaklanarak öldürülmüş halde bulundu.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here