पिता ठेला लगाकर बेचते थे मिठाई, बेटे ने पहले प्रयास में ही पास की यूपीएससी परीक्षा और बन गए आईएएस

2237
son of sweet seller becomes an IAS officer Saurabh Swamy

पहले प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा पास करना किसी सपने से कम नहीं है। इस सपने को सच को दादरी के रहने वाले सौरभ स्वामी (Saurabh Swamy) ने सच कर दिखाया है। -son of sweet seller becomes an IAS officer Saurabh Swamy

1 दिसंबर 1989 को साधारण परिवार में जन्मे सौरभ ने अपनी मेहनत से अपने घर की गरीबी को दूर कर दिए। सौरभ अपनी मेहनत और लगन से ना केवल अपने पिता का सपना पूरा किए बल्कि अपने पहले ही प्रयास में 149वां रैंक प्राप्त कर आईएएस बने।

son of sweet seller becomes an IAS officer Saurabh Swamy
नौकरी के दौरान पास की सिविल सर्विस परीक्षा

सौरभ के पिता अशोक स्वामी (Ashok Swamy) चरखी दादरी के रोहतक चौक पर कुल्फी और मिठाई की रेहड़ी लगाकर परिवार का गुजारा करते थे। सौरभ ने एपीजे स्कूल से 12वीं करने के बाद नई दिल्ली के भारतीय विद्यापीठ से बीटेक किया, जिससे सौरभ का बैंगलोर में इंजीनियर की नौकरी लग गई। नौकरी के दौरान ही उन्होंने सिविल सर्विस की प्राथमिक परीक्षा उत्तीर्ण कर लिया।

नौकरी से मिली छुट्टियों में मुख्य परीक्षा पास कर बने आईएएस

हालांकि कुछ समय बाद सौरभ को फिसलकर गिरने से हाथ में चोट लग गई। चोट के कारण डॉक्टर ने उन्हें तीन महीने रेस्ट करने को कहा, जिससे उन्हें छुट्टियां लेनी पड़ीं। सौरभ नौकरी से मिली उन छुट्टियों में सिविल सर्विस की मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली चले गए।

किया समय का सदुपयोग

इस दौरान वे विभिन्न इंस्टीट्यूट्स में तीन महीने तक समय का बेहतर नियोजन किया। साल 2014 में वह अपने पहले प्रयास में परीक्षा पास कर लिए और साल 2015 के बैच में आईएएस बने।

son of sweet seller becomes an IAS officer Saurabh Swamy
सौरभ हर रोज़ करते थे 17 से 18 घंटे तक पढ़ाई

सौरभ बताते हैं कि वे इंजीनियरिंग करने के बावजूद मुख्य परीक्षा में ज्योग्राफी विषय को चुने। सौरभ ज्योग्राफी विषय इसलिए चुने क्योंकि उनके पास तैयारी के लिए समय कम था।

ज्योग्राफी की जानकारी आई काम

ज्योग्राफी की जानकारी अन्य विषयों में भी थोड़ी थोड़ी रहती है। सौरभ हर रोज़ 17 से 18 घंटे तक पढ़ाई करते थे। वे बताते हैं कि उन्हें सिविल सेवा मुख्य परीक्षा का उतना आइडिया नहीं था, इस दौरान इसरो का अनुभव उनके काम आया।-son of sweet seller becomes an IAS officer Saurabh Swamy

सौरभ पिता के शब्दों से हुए प्रेरित

सौरभ की मां पुष्पा स्वामी (Pushpa Swami) बीएड कर चुकी हैं और गृहिणी भी हैं। उनके पिता अशोक स्वामी महज आठवीं तक पढ़े हैं। दो बहनों के इकलौते भाई और साधारण परिवार के सौरभ बताते है कि वे इंजीनियर तो बन गए थे, लेकिन पिता के शब्द कानों में प्रेरणा बनकर गूंजते रहे।

पिता से होते रहे प्रेरित

सौरभ ने अपने पिता के जुझारूपन से प्रेरित होकर अपने लक्ष्य को पाने में जी जान लगा दिया। पढ़ाई के साथ-साथ वह पिता के काम में भी उनका मदद करते थे।

son of sweet seller becomes an IAS officer Saurabh Swamy
पिता चाहते थे कि सौरभ जीवन में कुछ बड़ा करें

साल 2007 में सौरभ 12वीं में 89 प्रतिशत अंकों के साथ पूरे चरखी दादरी में अव्वल आए थे। उसके बाद वह आईआईटी करना चाहते थे, लेकिन आईआईटी की परीक्षा में प्रापर लिस्ट में नाम नहीं आ पाया। अगली लिस्ट में नाम आया तो इस पर पिता अशोक स्वामी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, यह देख उन्होंने कुछ बड़ा करने का लक्ष्य बना लिया। सौरभ स्वामी (Saurabh Swamy) के पिता का कहना था कि जीवन में कुछ बड़ा करके दिखाओ।

सौरभ को आईएएस में राजस्थान का कैडर मिला

सौरभ स्वामी पाली जिले से ट्रेनिंग के बाद प्रतापगढ़, गंगानगर में पोस्टिंग हुआ। उनका आईएएस में राजस्थान का कैडर रहा। फरवरी 2020 से सौरभ राजस्थान के प्राथमिक शिक्षा निदेशालय और सेकेंडरी शिक्षा निदेशालय के डायरेक्टर की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। सौरभ का मानना है कि अगर जीवन में आगे बढ़ना है, तो खुद पर यकीन होना बहुत जरूरी है। इस दौरान प्लान ए के साथ प्लान बी भी तैयार रखें। सौरभ कहते हैं कि अपने आप पर विश्वास करना सबसे बड़ी ताकत है।

27 COMMENTS

  1. Unquestionably believe that that you stated. Your favourite reason appearsd to be at the internet thhe simplest thing to take note of.
    I say to you, I certainly get irked at the same time as other people consider worries that they just do not realizxe about.
    You controlled to hitt the nail upon the highest as neatly as defined
    out the whole thing without having side effect , other folks
    could take a signal. Willl likely bee again to
    get more. Thank you

    My homepage adultchatsex.com

  2. Thank you for the auspicious writeup. It in fact was once a amusement
    account it. Glance advanced to far added agreeable from you!
    However, how could we communicate?

    Check out my website; Pornhub

  3. An interesting discussion is definitely worth comment.

    I do thiink tyat you shuould write more about this subject,
    it may not bee a taboo matter but usually people do not speak about these subjects.
    To the next! Cheers!!

    Have a look at my blog post – chaturbate.wtf

  4. Its like you read my mind! You appear to know a lot about this, like you wrote thee book in it or something.
    I think that you could do with some pics to drive the messge home a bit, bbut
    other than that, this is wonderful blog. A fantastic read.
    I’ll definitely be back.

    Here is my siute – all things xxx video

  5. Hi, I think your site might be having browser compatibility issues. When I look at your blog in Ie, it looks fine but when opening in Internet Explorer, it has some overlapping. I just wanted to give you a quick heads up! Other then that, very good blog!

  6. I have been browsing on-line greater than 3 hours as of late, yet I by no means found any attention-grabbing article like yours. It is pretty worth sufficient for me. Personally, if all site owners and bloggers made excellent content material as you did, the net will likely be much more helpful than ever before.

  7. Today, I went to the beach with my children. I found a sea shell and gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She put the shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear. She never wants to go back! LoL I know this is totally off topic but I had to tell someone!

  8. Voluntary online sexual exposure. Most children in western countries use
    the internet daily [].Among 17 year olds in Sweden the figure
    is 98% [].The internet is mostly used for doing schoolwork,
    playing online games and watching film clips, but many young people
    also use it to stay in contact with people and to meet new people for friendship, love and/or sex
    [2, 3].

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here