किसा’न आंदोलन को देख कर दुखी हूं सोनू सूद:-को’रोना महामारी में हज़ारों मजदूरों की थी मदद।

11422
sonu sood on farmer protest

आज देश के अधिकतर लोग किसा’न आंदोलन में किसानों का हौसला बढ़ा रहे हैं। क्योंकि ये कड़वी सच्चाई हैं कि अगर किसान नही तो हम नहीं। इतनी ठंड में भी किसान भाइयों के हौसले बुलंद है। और वो पीछे हटने वाले नही है। वैसे तो आम से लेके खास लोग तक किसानों का समर्थन कर रहे है पर अब इस फेहिसत मे सोनू सूद का नाम भी जुड़ गया है।

किसानों की दशा देख दुखी है सोनू:-

सोनू सूद कितने दरियादिल है ये हम सब जानते हैं। वो जमीन से जुड़े हुए है। सेलिब्रिटी होने का कोई घमंड नही है उन्हें। सोनू सूद किसानों की दशा देख बहुत ढुखी है।

उनका कहना है कि इतने ठंड में किसान भाई तीनो नए कृषि का’नून का विरोध कर रहे हैं। साथ ही साथ उनके साथ महिलाएं और बच्चे भी है जो प्रद’र्शन में किसानों का हौसला बढ़ा राहे है। ये देख बहुत दुख होता है क्योंकि जिस किसान की वजह से हम हमारा पेट भरता है आज वो ही भूखे सो रहे हैं। आं’दोलन की वजह से कई किसान भाई अपनी ज़िंदगी से भी हार गए। सोनू का कहना है कि कब तक हम मूकदर्शक बन के ये सब देखते रहेंगे। ये समय किसानों की शिकायतो को सुन के उन्हें समझ के ठीक करने का है।

सोनू उम्मीद करते है कि ये सब जल्द ठीक हो:-

सोनू उम्मीद करते है कि किसान आं’दोलन जल्द खत्म हो जाये और फिर से पहले जैसा सब हो जाये। क्योंकि अगर जल्द ही ऐसा ना हुआ तो इससे आम आदमी को सबसे अधिक परेशानी होगी।

सोनू कहते है कि ऐसी कोई समस्या नही है जिसका कोई हल ना हो। सोनू सूद खुद पंजाब के रहने वाले है। वही पे उनका पालन पोषण हुआ है। किसानों के बीच ही सोनू बड़े हुए है। इसलिए सोनू का मानना है कि अगर हम प्यार से किसानों को समझाए उन्हें कुछ समय दे तो वो समझ जाएंगे। जिससे उन्हें इतनी परेशानियां नही झेलनी पड़ेगी।

खेतों की जगह आ गए है सड़को पे:-

सोनू सूद ने एक ऑनलाइन कार्यक्रम “वी द वीमेन” के दौरान बोला है कि किसान आंदोलन से जो जो तश्वीरें सामने आ रही है वो दिल को दहला देने वाली है। जो किसान अपने खेतों में रहते थे आज वी रोड पे धरने पे बैठे हैं। ये दयनीय दृश्य हम कभी भूल नही पाएंगे। जो पूरे देश के बारे में सोचता है आज वही रोड पे बैठा है।

सबकी मदद करते है सोनू:-

ये तो हम सब जानते है कि को’रो’ना महामारी से सबको कितनी छति पहुँची है। इस समय मजदूरों को अपने घर जाने के लिए सबसे अधिक परेशानी छेलनी पड़ी। इस समय भी सोनू सूद प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बन के आये और सबकी मदद की।सोनू से जितना हो सका उन्होंने उतना आम आदमी की मदद की है। जिसकी सबने सराहना की है।

Kheti trend भी सोनू सूद के अच्छे व्यवहार ही तारीफ करता है और उम्मीद करता है कि वो हमेशा ऐसे ही दूसरों की मदद करते रहेंगे। साथ ही साथ ये भी उम्मीद करता है कि किसान भाइयों का प्र’दर्शन जल्द खत्म हो और वो अपने घर वापस आ जायें। हमारी तरफ से सारे किसान भाइयों और सोनू सूद को बहुत सारी शुभकामनाएं।

अनामिका बिहार के एक छोटे से शहर छपरा से ताल्लुकात रखती हैं। अपनी पढाई के साथ साथ इनका समाजिक कार्यों में भी तुलनात्मक योगदान रहता है। नए लोगों से बात करना और उनके ज़िन्दगी के अनुभवों को साझा करना अनामिका को पसन्द है, जिसे यह कहानियों के माध्यम से अनेकों लोगों तक पहुंचाती हैं।

4 COMMENTS

  1. электророхля
    [url=https://samokhodnyye-elektricheskiye-telezhki.ru]https://samokhodnyye-elektricheskiye-telezhki.ru[/url]

  2. телескопический подъемник
    [url=https://podyemniki-machtovyye-teleskopicheskiye.ru]https://podyemniki-machtovyye-teleskopicheskiye.ru[/url]

  3. Altyazılar Film ve dizi altyazılarınızı herkese açık en geniş altyazı veritabanından indirin. Sadece Filmlerde ara:
    Sadece Dizilerde ara: Sezon: Bölüm: OR kullanarak
    tümyazı: Gönderiyi sabitle: Çoklu Arama. CD Sayısı.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here