पिता बेचते थे फल, बेटे ने फलों से आइसक्रीम बनाकर खड़ा किया 300 करोड़ का साम्राज्य : RS Kamath

486
Story of Raghunandan Shresnivas kamath founder of natural ice cream company

ऐसे तो दुनिया के हर एक जिम्मेदार आदमी की चाहत होती है कि वह बहुत हीं धन्यवान बने और अपने जीवन काल में काफी पैसा कामाए। लेकिन बात जब मेहनत और जिम्मेदारी पर आती है तो बहुत कम हीं लोग ऐसे होते हैं जो अपने सोच के अनुकूल काम कर सके।

आज हम बात करेंगे एक ऐसे शख्स की ,जिसका जीवन बहुत हीं कठिनाईयों से भरा रहा लेकिन तमाम परेशानियों को झेलने के बाद उनहोंने अपने प्रयास से एक बड़ी कामनाबी हासिल की है। तो आइए जानते हैं उस शख्स से जुड़ी सभी जानकारियां-

कौन है वह शख्स ?

हम बात कर रहे हैं रघुनंदन श्रीनिवास कामत की ,जो मूल रूप से कर्नाटक के पुत्तुर तालुका के मुलकी गांव के रहने वाले हैं। वर्तमान समय में वह रघुनंदन एस कामत आइसक्रीम कंपनी नेचुरल आइसक्रीम के संस्थापक हैं। वह कुल सात भाई-बहन थे। उनका जन्म एक बेहद हीं गरीब परिवार में हुआ था। उनके पिता जी जैसे तैसे फल तथा सुखी लकडिया बेच कर अपने परिवार का पालन पोषण करते थे।

Raghunandan Shresnivas kamath founder of natural ice cream company

पिता बेचते थे फल

बहुत हीं गरीब परिवार में जन्म लेने वाले रघुनंदन श्रीनिवास कामत के पिता शुरु के दिनों में सुखी लकड़ीयों तथा फलों को बेच कर अपने 7 बच्चों का खर्च चलाया करते थे। जैसे-जैसे समय बीतता गया धीरे-धीरे उनके सातों बच्चे अपने पैर पर खड़ा होने लायक होते गए और सब नौकरी के रास्ते के रास्ते पर चल पडे। जैसे-जैसे आमदनी बढ़ते गयी, वैसे हीं इनका भी आर्थिक स्थिति सही होने लगा।

यह भी पढ़ें :- इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ महिला ने शुरु किया महाराष्ट्रीयन खाने का व्यवसाय, आज 14 रेस्टोरेंट की मालकिन हैं

काम की तलाश में पहुँचा मुम्बई

घर के आर्थिक गरीबी के वजह से परेशान कामत के भाई मुंबई में गोकुल नाम से फूड इटरी चलाते थे। उन्हीं भाई के कारोबार ईन्हें पसंद आया। जब रघुनंद कामत थोड़े बड़े हुए तो वे वर्ष 1966 में भाइयों के पास कामकाज करने के लिये मुंबई पहुंच गए। वहाँ उन्होंने काम का तलाश किया तथा नौकरी भी की।

Raghunandan Shresnivas kamath founder of natural ice cream company

आइसक्रीम का शुरु किया कारोबार

वर्ष 1983 में रघुनंदन श्रीनिवास कामत की शादी हुई और इसके बाद उन्होंने आइसक्रीम का बिजनेस शुरू करने का मन बनाया। वे आइसक्रीम से जुड़े कारोबार में अपनी एक नई पहचान रखना चाहते थे, इसलिए उन्होंने आईसक्रीम का कारोबार शुरु किया। सबसे पहले उन्होंने जब कारोबार शुरु किया तो उन्हें कोई विशेष फायदा नहीं हुआ लेकिन धीरे-धीरे उनका भी कारोबार रफ्तार पकड़ लिया।

यह भी पढ़ें :- गरीब बच्चों में जला रहे शिक्षा की लौ, महज 10 रुपये फीस लेकर महीने भर ट्यूशन पढ़ाता है यह दंपत्ति

अब करोड़ो में कारोबार

कामत की कंपनी नेचुरल का आज के समय में देश में 135 आउटलेट हैं। दिल्ली में उनके कंपनी 100 स्टोर अलग से शुरू करना चाहती है। उनके यहां नेचुरल्स आइसक्रीम 5 फ्लेवर से शुरू हुआ था और आज के समय में उनके पास अभी तक 20 फ्लेवर का आइसक्रीम हो चुका है। आज के समय में उनके कंपनी नेचुरल्स का 300 करोड़ का कारोबार हो गया है और नैचुरल आइसक्रीम की अपनी पहचान बनी है।

Raghunandan Shresnivas kamath founder of natural ice cream company

प्रेरणा

अपने मेहनत और संघर्ष के बदौलत सफलता हासिल करने वाले रघुनंदन श्रीनिवास कामत ने यह कर दिखाया है कि अगर निरंतर प्रयास किया जाये तो एक न एक दिन कामयाबी जरूर मिलती है। उन्होंने अपने कारोबार की शुरुआत शुन्य से की थी, और आज के समय में वे अपने सूझ-बूझ के कारण करोड़ो रूपये का कारोबार शुरु कर लिया है। उनकी यह कामयाबी समाज के अन्य लोगों के लिए प्रेरणा बनीं है हुई है। उनके इस कदम से चारों तरफ उनके कारोबर से लोगों को सीख मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here