चार बार हुए असफल, दोस्तों ने उङाया मजाक, फिर भी नहीं मानी हार, अपनी मेहनत से बने IPS अधिकारी

7564
Success story of Akshat Kausal

असफलता हमेशा हीं हमें कुछ-ना-कुछ सिखाती है, बस आपको उस पर ध्यान देने की जरूरत है। कुछ युवा अपने रास्ते में आए असफलता से डर जाते हैं और हार मान लेते हैं परन्तु कुछ युवा उन्हीं असफलताओं से सीख लेकर आगे बढ़ते हैं और अपने सपनों को साकार कर अन्य युवाओं का मनोबल बढ़ाते हैं।

असफलताओं से सीख लेकर आगे बढ़ने वाले युवाओं में से एक हैं, आईपीएस ऑफिसर अक्षत कौशल (IPS Akshat Kaushal) जिन्हें यूपीएससी (UPSC) में 4 बार असफलता हाथ लगी। दोस्तों ने खूब खरी-खोटी भी सुनाई परन्तु अक्षत ने अपने अगले प्रयास में सफलता हासिल कर, सबके गालों पर जोरदार तमाचा मारकर सबका मुंह बंद कर दिया। -Akshat Kaushal failed for 4 consecutive times in UPSC exam, did not give up, became an IPS officer

साल 2012 में शुरू की यूपीएससी की तैयारी

अक्षत ने अपने यूपीएससी एग्जाम की तैयारी साल 2012 में प्रारंभ की। उन्होंने कोचिंग में दाखिला लिया एवं तैयारी में लग गए। अपने पहले प्रयास में उन्हें असफलता हाथ लगी हालांकि उन्होंने इससे हार नहीं मानी और लगातार परीक्षा देते रहे। परंतु वह हर बार इसमें असफल हो जाते। बार-बार असफल होने के कारण वह काफी हताश भी हुए। उनके परिजन भी उन्हें घर से बाहर नहीं निकलने देते थे ताकि कोई अनहोनी ना हो जाए। -Akshat Kaushal failed for 4 consecutive times in UPSC exam, did not give up, became an IPS officer

Success story of Akshat Kausal

दोस्तों के उपहास से खुद को किया सशक्त

कुछ दिनों के उपरांत उनकी मुलाकात उनके कुछ मित्रों से हुई उन्होंने उनके लिए कुछ कमेंट किए जो अक्षत को चुभ गया। अब उन्होंने मन बना लिया कि वह फिर से यूपीएससी की तैयारी करेंगे और इसमें सफलता हासिल करके ही चैन की सांस लेंगे। उन्होंने यूपीएससी की तैयारी प्रारंभ कर दी एवं परीक्षा दी। उन्होंने पांचवी बार परीक्षा दी जिसमें उन्हें सफलता हाथ लगी। इसमें सफलता हासिल करने के उपरांत उनका चयन आईपीएस के पोस्ट के लिए हुआ। वह बताते हैं कि आप एग्जाम देने से पहले इसके नेचर को अवश्य समझें क्योंकि परीक्षा का प्री, मेन्स एवं इंटरव्यू का नेचर पूरी तरह हीं अलग होता है। आप इसे समझें एवं फिर इसके अनुसार ही तैयारी करें तो आप अवश्य सफल होंगे। -Akshat Kaushal failed for 4 consecutive times in UPSC exam, did not give up, became an IPS officer

Success story of Akshat Kausal

किसी भी विषय को लेकर ना हो ओवर कांफिडेंट

वह बताते हैं कि आप किसी भी सब्जेक्ट को लेकर ओवरकॉन्फिडेंट मत बने। मैं हिंदी को लेकर बेहद कॉन्फिडेंट था परंतु जब रिजल्ट सामने आया तो मैं हिंदी के कंपलसरी पेपर में ही असफल हुआ था। इसीलिए आप किसी भी विषय को लेकर अत्यधिक उत्साहित ना रहें। वह बताते हैं कि जो लोग आपको जानते हैं आप उनकी सलाह अवश्य लें। वह बताते हैं कि जब मैं असफल हुआ तो मुझे बहुत दुख हुआ था।-Akshat Kaushal failed for 4 consecutive times in UPSC exam, did not give up, became an IPS officer

Success story of Akshat Kausal

दूसरी बार असफल होने के बाद शुरू की नौकरी

वह कहते हैं कि जब मैं दूसरी बार और असफल हो चुका था तो मैंने नौकरी शुरू की परंतु मेरे अन्य दोस्त इसकी तैयारी में लगे हुए थे। उनके दोस्त उन से कहा करते थे कि हम सफलता के बेहद करीब हैं इसीलिए जॉब करके टाइम वेस्ट ना करें और यूपीएससी की तैयारी करते रहे। परंतु उन्होंने अपने मित्र की बात नहीं सुनी थी जब उनके मित्र का चयन उसी वर्ष यूपीएससी में हो गया और अक्षत इसमें असफल हुए तो उन्हें दुख हुआ। क्योंकि वह अच्छी तरह जानते थे कि वह जॉब के कारण अपनी तैयारी ठीक तरह से नहीं कर पाए थे। -Akshat Kaushal failed for 4 consecutive times in UPSC exam, did not give up, became an IPS officer

Success story of Akshat Kausal

55वीं रैंक हासिल करने के उपरांत हुआ था आईएएस के लिए चयन

वह बताते हैं कि अपने परिवार के दबाव में आकर उन्होंने चौथे प्रयास में सर्विस प्रेफरेंस में आईएएस फील किया था परंतु उनकी चाहत आईपीएस ऑफिसर बनने की थी। जिसका नतीजा यह सामने आया कि इंटरव्यू के दौरान जब वह जा रहे थे तो उनके दिमाग में यह ख्याल आया कि जब मैं स्वयं से इमानदार नहीं हूं तो क्या भगवान मेरी मदद करेंगे? इस बार वह साक्षात्कार में सफलता हासिल कर चुके थे परंतु उनका चयन नहीं हुआ। परंतु अपने पांचवें प्रयास में उन्होंने 55 वी रैंक हासिल कर आईएएस की पोस्ट मिलने के उपरांत भी आईपीएस को ही सेलेक्ट किया और आज अपने सपने को साकार कर युवाओं के लिए उदाहरण बने। -Akshat Kaushal failed for 4 consecutive times in UPSC exam, did not give up, became an IPS officer

Success story of Akshat Kausal

असफलताओं से सीख लेकर सफलता हासिल कर अपने सपने को साकर कर जिस तरह अक्षत कौशल (Akshat kaushal) आईपीएस (IPS) बनकर देश सेवा कर रहे हैं ये उन सभी युवाओं के लिए प्रारणाप्रद हैं जो असफलता से डर के हार मान लेते हैं और सपने पूरे नहीं कर पाते। -Akshat Kaushal failed for 4 consecutive times in UPSC exam, did not give up, became an IPS officer

25 COMMENTS

  1. Do you mind if I quote a couple of your articles as long as I provide credit and sources back to your website? My blog site is in the very same niche as yours and my visitors would truly benefit from some of the information you provide here. Please let me know if this ok with you. Many thanks!

  2. A fascinating discussion is definitely worth comment.
    I believe that you ought to write more on this issue, it may not be a taboo matter but generally people do not speak about such subjects.
    To the next! Best wishes!!

  3. Fantastic blog! Do you have any recommendations for aspiring writers?

    I’m planning to start my own blog soon but I’m a little lost on everything.
    Would you recommend starting with a free platform like WordPress or go for
    a paid option? There are so many choices out there that
    I’m completely overwhelmed .. Any recommendations?
    Bless you!

  4. MADDE 4 (1) AB üyeleri arasından belirlenen kaynak ülkeler; Fransa, İspanya, İtalya, Portekiz ve Yunanistan’dır.
    (2) Kaynak ülke fiyatlarının belirlenmesinde,
    resmi ya da genel kabul görmüş veri tabanları ile izleme yapılabilir.
    (3) Veri tabanlarının izlenmesi ile tespit edilen ve başvuru sahipleri tarafından beyan.

  5. obviously like your web-site however you have to take a look at the spelling on quite a few of your posts. Several of them are rife with spelling problems and I find it very troublesome to tell the reality nevertheless I will surely come again again.

  6. Bentyl Side Effects. Serious side effects of Bentyl include mental changes such
    as confusion, short-term memory loss, hallucinations, or agitation. In most cases, these side
    effects will go away during the 12 to 24 hours
    after the patient stops taking Bentyl. Some of the more common side effects include dry mouth, drowsiness, and dizziness.

  7. There are some attention-grabbing closing dates in this article but I don’t know if I see all of them heart to heart. There may be some validity but I will take maintain opinion until I look into it further. Good article , thanks and we would like extra! Added to FeedBurner as properly

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here