मां का फर्ज निभाते हुए UPSC की तैयारी की, प्रेग्नेंसी के दौरान परीक्षा दी और पहले प्रयास में IPS बन गई

473
Success story of IPs Shahnaz Illyas

कहते हैं न चाहे हालात कुछ भी हो अगर किसी इंसान के पास किसी काम को लेकर जुनून हो तो सफलता जरूर मिलती है। आज हम आपको एक ऐसे हीं महिला से रूबरू कराने वाले हैं, जिनके मन में यूपीएससी को लेकर ऐसा जुनून छाया हुआ था कि उन्होंने अपनी प्रेगनेंसी के हालात में यूपीएससी का एग्जाम दिया और फिर सफलता का परचम भी फहराया।

कौन है वह महिला?

हम बात कर रहे हैं तमिलनाडु (Tamil Nadu) की रहने वाली आईपीएस शहनाज इल्यास (IPS Shahnaz Illyas) की, जो अपने काम के प्रति मेहनत और लगन के वजह से हमेशा सुर्खियों में रहती हैं।

बता दें कि, शहनाज (IPS Shahnaz Illyas) ने 5 साल तक कॉरपोरेट फर्म में काम किया और उसी दौरान उनके मन में यूपीएससी की तैयारी का ख्याल आया, लेकिन उनके पास उस समय उतने समय नहीं थे कि वे यूपीएससी की तैयारी अच्छे से कर सके। लेकिन जब वे प्रेगनेंट हुईं तो उनको नौकरी से छुट्टी मिली और उसी दौरान उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करना शुरू कर दिया।

Success story of IPs Shahnaz Illyas

प्रेगनेंसी के 9वें महीने में दी यूपीएससी प्रीलिम्स की परीक्षा

कॉरपोरेट फर्म से छुट्टी नहीं मिलने के कारण शहनाज (IPS Shahnaz Illyas) यूपीएससी की तैयारी सही तरीके से नहीं कर पाती थीं, लेकिन जब वे प्रेगनेंट हुईं तो उन्होंने छुट्टियां ली और उसी दौरान उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। जब वे प्रेगनेंसी के 9वें महीने में थीं तब उनकी यूपीएससी प्रीलिम्स की परीक्षा पड़ी थी और वे उस परीक्षा में शामिल भी हुईं।

यह भी पढ़ें :- पिता बेचते थे तीर-धनुष, बेटी ने केरल की पहली आदीवासी IAS अधिकारी बनकर रचा इतिहास

पहले प्रयास में मिली यूपीएससी प्रीलिम्स में सफलता

शहनाज (IPS Shahnaz Illyas) ने अपनी पढ़ाई काफी बेहतर रणनीति के साथ की थी इसलिए उन्हे पहले हीं प्रयास में यूपीएससी प्रीलिम्स में सफलता भी मिली। लेकिन समस्या यूपीएससी मेन्स के दौरान आई क्योंकि एक मां के लिए अपनी छोटी बच्ची को छोड़कर पढ़ाई करना संभव नहीं था।

इस दौरान उनके माता-पिता ने उनकी बहुत मदद की और उन्होंने अपनी पढ़ाई में कोई कमी नहीं आने दी। अच्छी तैयारी होने के वजह ने शहनाज ने यूपीएससी 2020 में ऑल इंडिया 217वां स्थान प्राप्त किया था।

Success story of IPs Shahnaz Illyas

खुद को हीं करती थीं मोटिवेट

शहनाज (IPS Shahnaz Illyas) ने यूपीएससी की तैयारी एक बेहतर रणनीति के साथ की। सबसे ज्यादा तो उन्होंने परीक्षा के दौरान खुद को अनुशासित रखा। सबसे खास बात तो यह है कि वे खुद को मोटीवेट करने के लिए रात में अकेले वॉक किया करती थीं और खुद को मोटिवेट करते हुए कहा करती थी कि मैं कर सकती हूं और मैं करूंगी।

आज शहनाज इल्यास (IPS Shahnaz Illyas) अपने मेहनत और लगन के बदौलत एक आईपीएस ऑफिसर हैं और उनकी अनुशासित जीवन अन्य लोगों के लिए एक प्रेरणा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here