80 वर्ष की उम्र में भी करती हैं फूलों का कारोबार, दिल्ली के कई घरों में लोग इनके दुर्लभ फूलों को पसंद करते हैं

3983

एक उम्र गुज़रने के बाद हम दूसरों पर आश्रित होने लगते हैं, चाहे वह शारीरिक दृष्टि से हो या मानसिक या फिर वितीय रूप से। हमे हर कदम पर सहारे की जरूरत पड़ती है। लेकिन 80 के उम्र में भी एक ऐसी दादी हैं, एक ऐसी उधमी महिला हैं जो फूल बेच के अपना जीवकोपार्जन करती हैं। उनका नाम है – स्वदेश चड्ढा
स्वदेश अपने आवास पर फूलों का दुकान चलती हैं ,जहां से वो फूलो की डिलीवरी भी कराती हैं और सजावट के लिए लोगो को फूल भी उपलब्ध कराती हैं। यहां एक तरीके से पेड सर्विस चलाया जाता है और इस काम और इस दुकान का नाम उन्होंने दिया है:- फूलो की रानी


उनकी की उम्र 80 वर्ष होने के कारण वो व्हील चेयर का इस्तेमाल करती हैं ,जिससे उन्हें सहयोग मिलता है। मन मे अगर कुछ करने का जज़्बा और लगन हो तो आपकी उम्र कही बाधा नही डाल सकती है। इसी का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण आप स्वदेश को मान सकते हैं। स्वदेश को उनके परिवार और उनके रिश्तेदार रानी के नाम से पुकारते हैं, बस इससे को देखते हुए उन्होंने अपने इस फूलो के दुकान का नाम फूलो की रानी रखा। दिल्ली के हज़ारो घर इनके सुगंधित फूलो से भरे हैं और इनकी खुशबू लोगो को खुश रहने में मदद करती है। जिस उम्र में लोग खुश होने और खुद को सम्हालने में लगे रहते हैं, उसी उम्र में ये लोगो के जीवन को सुगंधित रख रही हैं जो कि बहुत सराहनीय है।
दरअसल, बंटवारे के पहले स्वदेश पाकिस्तान में रहती थी लेकिन बंटवारे के बाद उनका परिवार उत्तर प्रदेश के झांसी में बस गया। आगे की पढ़ाई उन्होंने सेंट जोसेफ कॉलेज से किया और 25 वर्ष की आयु में 1965 में उनका विवाह कर दिया गया। उनके पति आर्मी में अफसर थे जिससे स्वदेश को देश के हर कोने में जा कर रहने का मौका मिला जहाँ उन्होंने अलग अलग किस्म के फूलों की जानकारी प्राप्त की। इनके पति की पोस्टिंग देहरादून हुई जहां इन्हें एक एकड़ में फैला आर्मी हाउस का कमरा मिला। जहाँ की खास बात ये थी कि लोग उस जगह को ग्लेडियोली हाउस बोलते थे क्योंकि वहाँ काफी संख्या में भीड़ होती थी , खिलते हुए फूलो को देखने के लिए।


पुनीता, जो रानी की बेटी हैं, बताती हैं कि उनकी माँ के हाथों में जादू है । वो जिस फूल को अपने हाथो से छू देती है वो फूल खिल उठता है और कई बार उन्होंने अपने आंखों से ये जादू देखा है। वर्ष 2019 में रानी , अपनी बेटी के साथ नोएडा में रहने चली गयी, अब वही रहती हैं। उनकी दुकान जिसका नाम ‘फूलो की रानी’ है उसकी शुरुआत तब हुई थी जब पुनीता ने हर वीकेंड पर लगने वाले फूलो की सजावट की ज़िम्मेदारी उठाई (गुरुग्राम)। इस काम मे रानी कभी -कभी अपनी बेटी के साथ मदद के लिए जाती थी ।
रानी घर मे बैठने के बजाय कुछ करना चाहती थी, हालांकि वो एक बेहतरीन कुक भी हैं लेकिन उनकी बेटी को अच्छा नही लगता कि उनकी माँ इस उम्र में बहुत से लोगो के लिए खाना बनाये। दोनों माँ बेटी यही सोचते रहते थे कि क्या किया जाए जो आसान भी हो और माँ कर भी लें। उसी में रानी को ख्याल आया की वो फूलो की सजावट में मदद कर सकती हैं। तभी रानी को महसूस हुआ कि दिल्ली में अच्छे किस्म के फूल नही मिलते , क्यों न वो लोगो को फूल मुहैया कराए। बस और क्या, फूलो की रानी का नींव तैयार था अब।


गुरुग्राम के होराइजन प्लाजा में साप्ताहिक बाजार लगती है। उसी में उनका सबसे पहला फ्लॉवर का स्टॉल लगा और रानी वहाँ एक छोटे से मनी बैंक ले के बैठी। लोग आ रहे थे,देख रहे थे, रानी से उनके मेंटेनेन्स का टिप्स भी ले रहे थे। उन्हें जीने का दूसरा मौका मिल गया था, एक अलग चमक आ गयी थी चेहरे पर। काम अच्छा चलने लगा और लोग फूल काफी पसंद करने लगे।
फिर अचानक कोरोना महामारी आ गयी। सबको लगा कि ये कुछ ही दिन की बात है , लेकिन महीने दर महीने गुज़रते चले गए और lockdown खत्म होने का नाम नहीं ले रहा था। फिर कुछ दिनों में ही लोगो के लगातार फोन आने लगे और पूछने लगे कि क्या आप फूलो की डिलीवरी करा सकती हैं । फूल उन्हें निराशा से बचाते थे। फिर क्या, फूलो की होम डिलीवरी शुरू करा दी गयी और रानी फिर से अपने काम मे लग गयी।
फूल आते कहा से हैं ?
रानी ने किसानों से लेकर थोक विक्रेताओ तक एक नेटवर्क बना रखा था। किसान ताज़े ताज़े फूल भेजते, लेकिन कभी कभी पहुचने तक बहुत से फूल मुरझा जाते हैं जिन्हें बाजार में नही निकाला जाता है। रानी हमेशा से ही अपने पेशे के प्रति जागरूक और ईमानदार रही हैं और हमेशा रहेंगी। डिलेवरी वाले फूलो को रानी अच्छे से जाँच कर भेजती हैं और निगरानी भी रखती हैं और उस फूल को कैसे रखना है कि वो लंबे समय तक चले, इसकी भी जानकारी देती रहती हैं। ग्राहकों की संतुष्टि ही रानी के लिए सबसे बड़ी कमाई है। अब बात ये है कि रानी के फूलो में ऐसी क्या खासियत है? रानी सिर्फ वही फूल लोगो तक पहुचती हैं जो बाजार में उपलब्ध नही होता।


ग्राहक की हैं पहली पसंद
रानी की हमेशा की एक कस्टमर हैं – खजुरिया। ये बताती हैं कि रानी के सारे फूल बहुत अलग होते हैं और एक सप्ताह तक खराब नही होते। उन्हें फूलो की रानी बहुत – बहुत पसंद है। साथ ही रानी के नुस्खे भी बहुत काम आते हैं।
रानी एक बार बचपन मे अपने माता पिता के साथ श्रीनगर गयी थी जहा डल झील में सब बोटिंग कर रहे थे। उसी वक़्त उनकी माँ का नज़र एक बहुत ही खूबसूरत बैंगनी कमल पर गया। उनकी माँ ने रिस्क के कर किसी भी तरह उस कमल को उठा लिया फिर वो उससे देहरादून साथ लाये। रानी बताती हैं कि फूलो से नजदीकी उन्हें विरासत में मिली है जो कि जीवन भर साथ रहेगी।
बहुत सारे शारिरिक कष्टो के बावजूद भी रानी ने अपने काम को धैर्य से सम्हाला। अब वो ज्यादातर वक़्त लोगो को जवाब देने में गुज़ारती हैं, व्हाट्सएप और फेसबुक से उनका समय आसानी से गुजरता है। कोरोना के पहले जब फूलो के स्टॉल बाजार में लगते थे तो कमाई भी अच्छी थी। लगभग 6000 तो आ ही जाते थे। बिना पैसे लगाए , अच्छा इनकम हो जाता है। रानी प्रत्येक सप्ताह कई घरों में 120 से ज्यादा फूल के गुच्छे भेजती हैं और ये डिलीवरी खास लोग ही करते हैं जिससे फूलों को हानि ना पहुँचे।


रानी के कुछ पसंद वाले फूल:-
उन्हें गैलडिओलि, नरगिस, रजनीगंधा जैसे फूल बहुत पसंद हैं। वैसे तो उन्हें सारे फूलो से बहुत लगाव है, सबका देखभाल भी करते रहती हैं।
अन्ततः हमे इस 80 वर्षीय हीरो से प्रेरणा लेनी चाहिए। आमतौर पर हम कम उम्र में ही बिस्तर पकड़ लेते हैं और तरह तरह के बहाने बनाने लगते हैं। लेकिन रानी का जोश हमे बहुत सी सीख देता है।

71 COMMENTS

  1. Fantastic goods from you, man. I’ve remember your stuff previous to and you are just too wonderful.
    I actually like what you have got right here, really like what you are saying and
    the best way in which you assert it. You’re making it enjoyable and you still
    care for to stay it wise. I can not wait to learn much more from you.

    This is really a tremendous website.

  2. Good day! This is my first visit to your blog! We are a team of
    volunteers and starting a new project in a community in the same niche.
    Your blog provided us useful information to work on. You have
    done a extraordinary job!

  3. The other day, while I was at work, my cousin stole my iphone
    and tested to see if it can survive a forty
    foot drop, just so she can be a youtube sensation. My apple
    ipad is now broken and she has 83 views. I know this is
    entirely off topic but I had to share it with someone!

  4. You actually make it appear so easy along with your presentation however I
    find this topic to be actually something which I feel I would never understand.
    It sort of feels too complex and extremely broad for me.
    I am looking forward in your next publish, I’ll try to get the grasp
    of it!

  5. Magnificent goods from you, man. I have understand your stuff previous
    to and you are just extremely fantastic. I really like what you have acquired here, certainly like what you’re saying and the way in which you say it.
    You make it entertaining and you still care for to keep it wise.
    I can not wait to read far more from you. This is actually
    a tremendous website.

  6. I believe that is one of the such a lot important
    info for me. And i’m satisfied reading your article.

    But should commentary on few general issues, The web site taste is great, the articles is truly nice : D.
    Just right task, cheers

  7. Hello would you mind letting me know which web host you’re using?
    I’ve loaded your blog in 3 different internet browsers and
    I must say this blog loads a lot quicker then most. Can you recommend a good web hosting provider at a fair price?
    Thanks, I appreciate it!

  8. Hi! Someone in my Facebook group shared this website with us so I came to give it a look.
    I’m definitely loving the information. I’m bookmarking and will be
    tweeting this to my followers! Wonderful blog and superb design.

  9. When I originally left a comment I seem to have clicked the
    -Notify me when new comments are added- checkbox and now whenever a comment is added I
    recieve 4 emails with the exact same comment.
    There has to be a way you can remove me from that service?
    Thank you!

  10. I think that what you wrote made a ton of sense. However, what about this?
    suppose you were to write a killer headline?
    I am not saying your information isn’t good., however what if you added something
    to possibly get folk’s attention? I mean 80 वर्ष की उम्र में भी करती हैं फूलों का कारोबार,
    दिल्ली के कई घरों में लोग इनके
    दुर्लभ फूलों को
    पसंद करते हैं – KhetiTrend.in is kinda plain.
    You should look at Yahoo’s home page and note how they create news headlines to
    get viewers interested. You might add a related
    video or a related picture or two to get people interested about everything’ve written. In my opinion, it might
    make your posts a little bit more interesting.

  11. An interesting discussion is worth comment. I think that you should write more on this topic, it might not be a taboo subject but generally people are not enough to speak on such topics. To the next. Cheers

  12. I simply could not depart your site prior to suggesting that I really enjoyed the usual
    info a person supply on your guests? Is going to be again ceaselessly to check out new posts

  13. Hello! I know this is kinda off topic but I’d figured I’d ask.
    Would you be interested in trading links or maybe guest writing a blog article or
    vice-versa? My site covers a lot of the same subjects as yours and I
    believe we could greatly benefit from each
    other. If you are interested feel free to send me an e-mail.
    I look forward to hearing from you! Great blog by the way!

  14. You really make it seem so easy with your presentation but I find this matter to be really something that I think I would never understand.
    It seems too complex and extremely broad for me.
    I’m looking forward for your next post, I will try to get
    the hang of it!

  15. I just like the helpful information you supply for your articles.
    I will bookmark your blog and check once more here frequently.
    I am relatively certain I will be told plenty of new stuff
    right right here! Best of luck for the next!

  16. Wow that was unusual. I just wrote an incredibly long comment but after I clicked submit my comment didn’t show up.
    Grrrr… well I’m not writing all that over again. Anyways, just wanted to say wonderful blog!

  17. Attractive portion of content. I just stumbled
    upon your website and in accession capital to claim that I acquire in fact loved account your blog posts.
    Anyway I’ll be subscribing for your feeds or even I achievement you
    get entry to persistently fast.

  18. I am not sure where you are getting your info, but good
    topic. I needs to spend some time learning more or understanding more.
    Thanks for great info I was looking for this info for my mission.

  19. Do you mind if I quote a few of your articles as long as I provide credit and sources back to your website?
    My blog site is in the exact same area of interest as yours and my visitors would truly benefit from a lot of the information you present here.
    Please let me know if this okay with you. Thank you!

  20. Fantastic items from you, man. I have be aware your stuff previous to and you are simply too wonderful. I really like what you have acquired here, really like what you are stating and the way by which you assert it. You’re making it entertaining and you continue to take care of to keep it wise. I can’t wait to read much more from you. This is actually a wonderful web site.

  21. I’m writing on this topic these days, slotsite, but I have stopped writing because there is no reference material. Then I accidentally found your article. I can refer to a variety of materials, so I think the work I was preparing will work! Thank you for your efforts.

  22. Howdy! This post could not be written any better! Reading through this post reminds me of my
    previous room mate! He always kept chatting about this.

    I will forward this page to him. Fairly certain he will have a good read.
    Thank you for sharing!

  23. Hmm is anyone else having problems with the images on this blog loading?
    I’m trying to find out if its a problem on my end or if it’s the blog.
    Any feedback would be greatly appreciated.

  24. Undeniably believe that which you said. Your favorite justification seemed to be on the web the simplest thing to
    be aware of. I say to you, I definitely get
    annoyed while people think about worries that they just
    don’t know about. You managed to hit the nail upon the top and defined out the
    whole thing without having side effect , people can take a signal.

    Will likely be back to get more. Thanks

  25. Expression of renal transporters in Oat1 and Oat3 mice buy propecia online 69 In a recent study in horses using the LPS induced synovitis model, phenylbutazone did not reduce MMP activity or substance P release and there was no reduction of cartilage catabolism, as with meloxicam

  26. Of course, your article is good enough, casino online but I thought it would be much better to see professional photos and videos together. There are articles and photos on these topics on my homepage, so please visit and share your opinions.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here