बैंगलोर के भाई-बहनों ने छोटे बच्चों का तकलीफ समझा, लॉकडाउन में हर रोज हज़ारों गरीब बच्चों को पीने का दूध पहुंचाते हैं

1961
bengaluru cousins are providing 400 litres of milk to poor children under milk mission in pandemic

जैसा कि हम सब जानते है की आज कोरोना महामारी की वजह से सिर्फ हमारा देश ही नही बल्कि पूरा विश्व ही परेशान है, और लॉक डाउन की वजह से जिसे सबसे अधिक परेशानी का सामना करना पर रहा है वो है मजदूर वर्ग जो रोज कमाते है और खाते है।वैसे सरकार ने और बहुत सारे लोगो ने राहत अभियान चलाया है जिसकी वजह से मजदूरों को थोड़ी राहत मिल रही है,परन्तु क्या सिर्फ दो वक्त के खाने से क्या इन मजदूरों की सारी समस्या हल हो जाती है, हमने कभी उन छोटे बच्चो के बारे में नही सोचा जो खाना नही खाते बल्कि सिर्फ दूध पर आश्रित रहते है, आखिर वो बच्चे किस चीज़ का सेवन करेंगे। ये बड़ी समस्या है।

परन्तु इस समस्या को बेंगलुरु के तीन भाईओ ने समझा और ” मिशन मिल्क” (MISSION MILK)” शुरू किया। तो आइए विस्तार से जानते है की आखिर मिशन मिल्क है क्या? और कैसे हुई इसकी शुरुआत।

तीनो भाईओ का परिचय-

इन तीनो भाईओ के नाम है जीशान जावीद, जुफिशन पाशा, शेजर शेरीफ ये तीनो चचेरे भाई है और तीनों बेंगलुरु में रहते है। इन तीनो भाईओ ने मिलके ये मिशन मिल्क शुरू किया है।

क्या है “मिशन मिल्क”-

तो मिशन मिल्क ये है कि ये तीनो भाई उन बच्चो को दूध प्रदान करते है जिन्हें दूध की पोषण की आवश्यकता है, जब इन तीनो भाईओ ने इस मिशन की शुरुआत की थी तो सिर्फ 60 लीटर दूध वितरित करते थे परन्तु अब ये आँकड़ा बदल के 400 लीटर हो गया है।

जीशान कहते है कि इसकी शुरुआत तब हुई थी जब पहला लॉक डाउन हुआ था, तब उनके परिवार वालो ने गरीबो को राशन और दवाइयां वितरण करने की सोची, जीशान कहते है कि जब वो लोग राशन बाटने गए तो उन्हें एहसास हुआ कि बच्चो को दूध की जरूरत है पोषण के लिए जो उन्हें नही मिल पा रहा है। तब तीनो भाईओ ने मिशन मिल्क की शुरुआत की।

दूध पार्लर वालो से किया संपर्क-

अब परेशानी ये थी कि इतने दूध कहा से आएंगी तब इन तीनो भाईओ ने नंदनी मिल्क पार्लर से संपर्क किया जो बेंगलुरु में जगह-जगह मौजूद है, नंदनी मिल्क पार्लर को सरकार का समर्थन भी प्राप्त है और ये एक भरोसेमंद ब्रांड है क्योंकि इसकी दूध में कोई मिलावट नही होती है, मिल्क पार्लर से इन्होंने 37 रुपये प्रति लीटर में हिसाब से दूध लेना शुरू किया।

उसके बाद इन तीनो भाईओ ने डोनेशन के लिए सोशल मीडिया पर एक पेज बनाया जिसके तहत जिसको इस मिशन में योगदान देने की इक्छा हो वो दे सकता है, जीशान डोनेशन देने वालो को ” दूध देवदुत” कह कर संबोधित करते है। जीशान कहते है कि हम अधिक से अधिक लोगो से निवेदन करते है कि वो दान करे और साथ ही साथ अधिक से अधिक लोगो को भी जागरूक कर इस नेक कार्य के लिए, इसके साथ ही वो कहते है कि अगर किसी इलाके में दूध की जरूरत हो तो वो हमसे अवश्य संपर्क करे हम उनकी मदद अवश्य करेंगे।


कैसे कार्य करते है ये तीनो भाई-

इन तीनो का कहना है कि हम नए छेत्र में दूध देने से पहले जहाँ पहले दूध देते थे वहाँ देते रहते है और हममें से कोई एक पहले इस बात की जांच करता है कि नए छेत्र में कितनी दूध की आवश्यकता है ततपश्चात नजदीक के नंदनी पार्लर से दूध लेते है और जिस छेत्र में आवश्यकता रहती है वहाँ वितरित करते है, इस नेक काम मे नंदिनी पार्लर वाले संचालक ने भी बहुत बड़ी भूमिका निभायी है, जब हम उनके यहाँ इतनी अधिक मात्रा में दूध लेने गए तो उन्होंने हमेशा उसका कारण पूछा, जब हमने उन्हें सारी बाते बताई तो उन्होंने भी हमारी बहुत मदद की और कम दाम पर हमें दूध उपलब्ध कराया, नंदिनी पार्लर के संचालक का कहना है की इस नेक काम मे हम जितना योगदान दे उतना कम है।

जीशान का कहना है कि वो राशन बाटते समय मास्क और दस्ताने का उपयोग करते है जो उनके डॉक्टर ने उन्हें कोरोना महामारी से बचाने के लिए सुझाव दिया है, वो आगे कहते है कि हमे जिस भी छेत्र में दूध वितरण करना होता है हम उस छेत्र में कोई लाइन लगा के लोगो को खड़ा नही करवाते बल्कि जो हमारे स्वयंसेवक है वो घर-घर जाके दूध पहुचाते है ताकि सामाजिक दुरी का सही से पालन हो सके इसके साथ ही जो भी स्वयंसेवक दूध वितरण करने जाता है उन्हें हम खुद मास्क और दस्ताने देते है उसका खर्च हम खुद उठाते है, इसमें हम डोनेशन के पैसे नही लगाते है।

दिल को छू जाने वाली घटना-

जीशान कहते है कि जब वो दूध वितरण करने जाते थे तो उन्हें याद है एक बार एक बच्चा दौड़ा-दौड़ा आया और शेजर के पास गया और उसके पैरों को गले से लगाकर तुरंत भाग गया। एक और घटना को याद करते हुए जीशान कहते है कि एक बार वो एक महिला को एक लीटर दूध दे रहे थे परन्तु उस महिला ने एक लीटर दूध लेने से मना कर दिया और कहा कि उसे सिर्फ आधे लीटर दूध की आवश्यकता है, और कहा कि ये आधा लीटर दूध हम बगल के घर मे देदे, ऐसी घंटनाये हमे भावुक कर देती है और दिल को छू लेती है जीशान कहते है।उनका कहना है कि लॉक डाउन खत्म होने के बावजूद भी वो दो अधिक हफ्ते तक इस मिशन को चलाएंगे, ताकि कोई भी बच्चा भूखा न रह सके।

हम इन तीनो भाईओ को दिल से नमन करते है और उनके और इस मिशन में जितने लोगो ने अपना योगदान दिया है उनके अच्छे की कामना करते है साथ ही साथ उनकी सराहना भी करते है।

अंजली पटना की रहने वाली हैं जो UPSC की तैयारी कर रही हैं, इसके साथ ही अंजली समाजिक कार्यो से सरोकार रखती हैं। बहुत सारे किताबों को पढ़ने के साथ ही इन्हें प्रेरणादायी लोगों के सफर के बारे में लिखने का शौक है, जिसे वह अपनी कहानी के जरिये जीवंत करती हैं ।

49 COMMENTS

  1. D᧐ you mind іff I ԛuote a coᥙplе of your articles as long as I provide credit and ѕources back to your webpage?
    My blog is in the νery same area of intereѕt as yours annd
    my visitߋrs would really benefit fom some of the information you present here.
    Please let me know if this alriɡht with you. Many thanks!

    Review myy webpage: baca infonya disini

  2. I ᥙsed to be recommended this website byy means of mү cousin.
    I am not sure whethewr or not this put up is written via him as nobody else recognize
    such special about my difficultү. You are amazing! Thanks!

  3. Ηi, i read yojr blog occаwsionally and i own a similar one and
    i was just wondering if yoս get а lot of spam remarks?

    If so һow do you reduce it, any plugin oοr anything you can recommend?
    I get so much lately it’s driving me mɑd so any
    hrlp is very much aⲣprecіated.

  4. Hey there! Do you know if they make any plugins to protect against hackers?
    I’m kinda paranoid about losing everything I’ve worked hard on.
    Any suggestions?

  5. I have been exploring for a little bit for any high-quality articles or blog posts on this kind of space . Exploring in Yahoo I at last stumbled upon this site. Reading this info So i¦m happy to show that I have an incredibly good uncanny feeling I came upon just what I needed. I so much surely will make sure to don¦t fail to remember this site and give it a glance on a constant basis.

  6. I have been exploring for a bit for any high quality articles or weblog posts on this kind of space . Exploring in Yahoo I ultimately stumbled upon this web site. Studying this info So i am happy to show that I have a very just right uncanny feeling I found out just what I needed. I most for sure will make certain to don?¦t disregard this website and provides it a glance regularly.

  7. hey there and thank you for your information – I have certainly picked up anything new from right here. I did however expertise a few technical points using this site, since I experienced to reload the site lots of times previous to I could get it to load correctly. I had been wondering if your web hosting is OK? Not that I’m complaining, but sluggish loading instances times will very frequently affect your placement in google and could damage your high-quality score if ads and marketing with Adwords. Well I am adding this RSS to my e-mail and can look out for a lot more of your respective interesting content. Ensure that you update this again soon..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here