MA इंग्लिश चायवाली: नौकरी नहीं मिली तो शुरु किया टी स्टॉल, दूर-दूर से लोग चाय पीने आते हैं

1035
Tuktuki Das MA English ChaiWali

कहते हैं हर इंसान अपनी किस्मत खुद बनाता हैं क्युकी कहा जाता है की कोई भी इंसान किसी पहचान का मोहताज नहीं होता। हर इंसान अपनी एक अलग पहचान अपने द्वारा की गई मेहनत और बलबूते से बनाता हैं। आज के समय में हमने कही ऐसे लोगो को कहानियां सुनी है जिनका सफर फर्शो से ले कर अर्शो तक पहुंचा हैं क्युकी कोई भी इंसान की पहचान जन्म से नहीं बनती। अपनी पहचान बनाने के लिए हर किसी को काफी मेहनत करनी पड़ती हैं। और अगर आज देखा जाए तो आज महिला भी अपनी हर क्षेत्र में एक अलग पहचान बना रही। जिससे आज कही ऐसी महिला हैं जो समाज में कही महिलाओ के लिए प्रेरणा बन चुकी हैं। क्युकी आज कल महिला हर क्षेत्र में अपना कैरियर बना रहीं हैं।

आज हम आपको एक ऐसी ही लड़की की कहानी बताएंगे। जिसने काफी संघर्ष कर अपनी जिंदगी सुधारी और साथ अपने माता पिता का नाम रोशन कर उनको काफी गर्व महसूस करवाया। आज उन्होंने समाज में यह साबित किया की लड़किया भी आज लड़को से कम नहीं हैं। आइए जानते हैं…….

**कौन है यह लड़की…..

आज हम जिस लड़की की बात कर रहे है उसका नाम टुकटुकी दास (Tuktuki Das) है। टुकटुकी जिन्होने अपनी जिंदगी में बेहद संघर्ष किया हैं। क्युकी उन्होंने अपनी जिंदगी में सबसे ज्यादा कुछ देखा है तो वो सिर्फ गरीबी देखी है क्युकी टुकटुकी जिस परिवार से तालुक रखती हैं वह काफी गरीब है जिससे उनके घर की स्थिति काफी खराब रहती थी। इनके परिवार में इनके पिता वे माता हैं जिसमे पिता पेशे से गाड़ी चालक है और माता छोटी सी दुकान चला कर आजीविका चलती हैं इनके घर के खर्च इन्ही माता पिता के कमाए हुए पैसे से चलता है जिनसे इनका गुजारा चल घर के खर्चे करते हैं। टुकटुकी एक ऐसी आत्मविश्वासी लड़की हैं जो खुद में काफी विश्वास रखती है उन्होंने कभी भी किसी चीज से हार नही मानी और अपने घर की स्थिति को ठीक करने के लिए पढ़ाई करने लगी।

यह भी पढ़ें:- IIM टॉपर रह चुके इस युवक ने सब्जियां बेचने से शुरु किया था सफर, आज हो रहा करोड़ों का टर्नओवर

**परिक्षम कर शुरू की पढ़ाई……

टुकटुकी का कहना है की उन्होंने अक्सर जिंदगी में देखा था की अगर हम कामयाबी को हासिल कर लेते है तो हमारी सारी मुश्किल दूर हो जाती है। ऐसे ही टुकटुकी के माता–पिता का भी केहना था की अगर तुम अच्छे से पढ़ोगी और कामयाबी हासिल करेगी तो कोई भी तुम्हे हरा नहीं सकता। जिसके बाद टुकटुकी ने इन बातो को मन कर पढ़ाई शुरू की और एमबीए (MBA ) कर डिग्री हासिल की। पढ़ाई करने के बाद टुकटुकी को विश्वास था की अब उन्हे एक अच्छी खासी नौकरी मिलेगी। जिससे वो अपने घर के हालात सुधर सके। लेकिन टुकटुकी की जिंदगी को उनकी नौकरी करना मंजूर नहीं था। जिस कारण उन्हे नौकरी न मिलने पर अपना कारोबार शुरू करना चाह।

Tuktuki Das MA English ChaiWali

**शुरू किया अपना कारोबार….

नौकरी न मिलने पर टुकटुकी जो काफी टेंशन में आ गई थी। क्युकी उन्हे अपने घर के हालात सुधारने थे जिसके लिए उन्होंने नौकरी की तलाश की पर उन्हे कही नौकरी नहीं मिली। जिस बीच वो काफी टोटने लगी थी। लेकिन उन्हों हार ना मानते हुए अपना कारोबार स्टार्ट किया। जिसमे उन्होंने शुरुवात एक छोटे से टी स्टाल (Tea Stall) से की। जिसका नाम उन्होंने एमए चायवाली (MA Chaiwali) रखा। हमने आज के समय में कही ऐसे लोगो के बारे में सुना हैं जो काफी पढ़ लिख कर नौकरी न कर सड़क किनारे टी स्टाल का काम कर रहे हैं। जिसकी प्रेरणा टुकटुकी को भी मिली। उनको नौकरी न हासिल होने पर अपना प्रयास जारी रखा और लोगो से प्रेरित हो कर मेहनत की।

यह भी पढ़ें:- ये हैं पटना की आत्मनिर्भर चाय वाली, सिर्फ 15 हजार खर्च करके लाखों रुपये महीना कमाती हैं

**इस सोच से थे घरवाले न खुश……

हर माता पिता चाहते हैं की उनके बच्चे अच्छी कामयाबी हासिल करे। वो चाहते है की उनके बच्चे पढ़ लिख कर अच्छी खासी नौकरी करे। कोई माता पिता यह बिलकुल नहीं चाहेगा की उनकी बेटी एक टी स्टाल लगा कर पैसे कमाए। जब टुकटुकी को कामयाबी हासिल करने का कोई रास्ता नही मिला तो उन्होंने काफी विचार कर टी स्टाल लगाने का सोचा। जिसके बाद उन्होंने अपना यह प्रस्ताव अपने पिता जी के आगे रखा। लेकिन उनके पिता इस बात से बिलकुल सहमत नही थे क्युकी वो चाहते थे की उनकी बेटी पढ़ लिख कर शिक्षिका बनेगी। लेकिन उनके आगे उनकी बेटी ने एक टी स्टाल का प्रस्ताव रखा। जिससे उनकी आंखे नम हो गई और इस बात से इंकार करने लगे। लेकिन टुकटुकी जिसका जुनून काफी मजबूत था उसने हार नही मानी और चाय की दुकान खोलने का काम शुरू किया। जिसके बाद धीरे धीरे टुकटुकी की पहचान बनने लगी और उनके माता पिता भी उनको समझने लगे। जिससे उन्हें विश्वास हुआ को हमारी बेटी आत्मनिर्भर बन रही हैं।

**प्रेरणा….

टुकटुकी आज हर उन लड़की के लिए प्रेरण बनी जो अपनी जिंदगी से हार मान कर खुद को कम समझने लगती हैं आज हर लड़की को टुकटुकी से प्रेरणा ले कर अपनी जिंदगी में आई हर मुश्किल का सामना करना चाहिए।

10 COMMENTS

  1. Thank you for another informative web site. The place else may just I am getting that kind of information written in such a perfect means? I’ve a venture that I’m simply now operating on, and I’ve been on the glance out for such info.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here