नौकरी के साथ दो दोस्तों ने शुरु किया बिरयानी का ठेला, रोजाना 10 हजार रुपये कमाते हैं: Engineer’s Thela

793
Two friends starts Engineer's ka thela and earning 10000 rupees per day

कोरोना काल के दौरान लगे लॉकडाउन में ऑफिस वाले लोगों को ऑफिस ने वर्क फ्रॉम होम दे दिया था, जिसमे बहुत से लोगों ने इस मौके का दुगुना फायदा उठाना शुरू किया। इन्हीं लोगों में शामिल हैं ‘इंजीनियर्स ठेला’ (Engineer’s Thela) लगाने वाले दो दोस्त, जो पेशे से एक इंजीनियर है लेकिन ऑफिस से छूटने के बाद वे दोनो रोजाना कलेक्टर ऑफिस के सामने ठेला लगाकर बिरयानी बेचने का काम किया करते हैं और रोज इससे 8 से 10 हजार रुपए कमाते हैं।

दोनो दोस्तों का परिचय

‘इंजीनियर्स ठेला’ (Engineer’s Thela) लगाने वाले दोनों दोस्तों का नाम सुमित सामल और प्रियम बेबर्ता है। ये दोनो बचपन से हीं दोस्त हैं। कोरोना काल के दौरान लगे लॉकडाउन में दोनो दोस्तो को ऑफिस ने वर्क फ्रॉम होम दे दिया, जिस मौके का फायदा उठाते हुए दोनो ने बिरयानी बेचने का काम शुरू किया।

बता दें कि, वे दोनो दोस्त अब ओडिशा (Odisha) के मलकानगरी में शाम के समय कलेक्टर ऑफिस के सामने ठेला लगाकर बिरयानी बेचने का काम करते हैं, जिससे रोजाना उनकी अच्छी कमाई भी हो जाती है।

Two friends starts Engineer's ka thela and earning 10000 rupees per day

यह भी पढ़ें :- आर्थिक तंगी के कारण अखबार बचें तो कभी एयरपोर्ट पर करनी पड़ी सफाई, आज खुद की मल्टीनेशनल कम्पनी है

ऑफिस का काम खत्म करने के बाद करते हैं बिरयानी बेचने का काम

दोनो दोस्त ऑफिस का काम खत्म करने के बाद ओडिशा (Odisha) के मलकानगरी में शाम के समय कलेक्टर ऑफिस के सामने अपनी बिरयानी का ठेला लगाते हैं। इस काम की शुरुआत उन्होंने कोरोना काल के दौरान लगे लॉकडाउन में की थी।

मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में प्रियम ने बताया कि ” स्ट्रीट फ़ूड खाना बहुत सारे लोगों की पसंद होती है तो बहुतों के लिए स्ट्रीट फ़ूड भोजन ही एक मात्र जरिया होते है क्योंकि बहुत लोग महंगे होटलो में खाने के लिए नहीं जा सकते। लेकिन कुछ लोगों के मन में ठेलों के भोजन को लेकर साफ-सफाई, गुणवत्ता और स्वाद को लेकर बहुत सारी दुविधा रहती है। यही कारण है कि हमने ‘इंजीनियर्स ठेला’ की शुरुआत की। हमारी रोजाना की लागत एक हजार रुपए है, जबकि एक दिन में 8 से 10 हजार तक हमारी कमाई हो जाती है।”

Two friends starts Engineer's ka thela and earning 10000 rupees per day

दोनो दोस्तों को नहीं आती थी बनाने बिरयानी, इसलिए रखा बावर्ची

दोनों दोस्तों ने बिरयानी का ठेला लगाने का प्लान तो कर लिया लेकिन इन्हें बिरयानी बनानी नहीं आती थी, इसलिए उन्होंने दो बावर्चियों को काम पर रखा। बिरयानी बनाने के लिए एक कमरा को किराये पर लिया और फिर दोनों दोस्तों ने मिलकर बिजनेस में 50 हजार रुपए का निवेश किया।

सबसे बड़ी बात है कि उन दोनो दोस्त ने खाने की गुणवत्ता का खास ख्याल रखा और बिरयानी बनने में इस्तेमाल होने वाली सामग्रियों को खुद बाजार से खरीदकर लाते हैं।

कितना रूपये में बेचते हैं एक प्लेट बिरयानी

‘इंजीनियर्स ठेला’ से मशहूर इस फ़ूड कार्ट में एक प्लेट चिकन बिरयानी की कीमत 120 रुपए है जबकि हाफ प्लेट की कीमत 70 रुपए है। दोनों दोस्त मिलकर रोजाना 100 से ज्यादा प्लेट बेच लेते हैं।

23 COMMENTS

  1. obviously like your web-site but you have to test the spelling on several of your posts. Several of them are rife with spelling problems and I to find it very troublesome to tell the reality however I will certainly come back again.

  2. Hey there just wanted to give you a quick heads up. The words in your post seem to be running off the screen in Ie. I’m not sure if this is a format issue or something to do with web browser compatibility but I figured I’d post to let you know. The layout look great though! Hope you get the issue solved soon. Many thanks

  3. I’m writing on this topic these days, slotsite, but I have stopped writing because there is no reference material. Then I accidentally found your article. I can refer to a variety of materials, so I think the work I was preparing will work! Thank you for your efforts.

  4. I do like the way you have framed this specific matter plus it really does present me a lot of fodder for thought. Nevertheless, through everything that I have experienced, I really trust as the responses pile on that men and women stay on issue and in no way embark on a soap box involving the news du jour. Anyway, thank you for this fantastic piece and although I can not really concur with it in totality, I respect your perspective.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here