बनारस की कचौड़ी, सब्जी है वर्ल्ड फेमस,सुबह से ही लगती है दुकानों पर लाइन, आप भी जाएं

3502
kachori of varanasi

बनारस को देवताओं की नगरी माना जाता है।काशी भगवान शिव की प्रिय नगरी माना जाता है। बनारस की हर चीज़ मन मोहने वाली होती है चाहे वो मंदिर हो,गंगा आरती हो या पकवान।बनारस में खाने की चीज़े भी बहुत प्रसिद्ध है। बनारस की कुल्हर की चाय,पुड़ी, सब्जी ,जलेबी का नाम सुनते ही मुँह में पानी आने लगता है।

आज जहाँ ज्यादातर लोग बाहर का खाना खाने के पहले सौ बार सोचते है वही बनारस में लोगो को सुबह-सुबह भरपूर नास्ता चाहिए होता है ताकि उनका पूरा दिन अच्छा गुजरे।ऐसा वहाँ के लोगो का मानना हैं।

दुकानें ही दुकानें:-

बनारस में खाने की दुकानों की कमी नही है बात चाहे लंका पर चाची की दुकान की हो या सुरेश की कचौड़ी की या मैदागिन पांडेयपुर की सारे दुकानों की अपनी अपनी अहमियत है। जो लोग यहाँ खाने जाते है तारीफ करते नही थकते।यहाँ पेट तो सबका भरता है परन्तु मन किसी का नही पड़ता इतने स्वादिष्ट खाने से।

सुबह से ही मिलने लगती है पुड़ी-सब्जी:-

बनारस में आपको सुबह 5 बजे से ही कचौरी सब्जी मिलने लगती है 6 बजे तक तो इतनी भीड़ हो जाती है कि आपको बैठने या खरे होने की भी जगह नही मिलेगी दुकान पर।बनारस में आपको 11 बजे तक कचौड़ी सब्जी मिलेगी।क्योंकि 11 बजे के बाद यह समोसा और मिट्टी लौंगलता बनने लगता है और भीड़ इसके लिए भर शुरू होने लगती है।

रमेश की दुकान बनारस के लंका बाजार में है रमेश पूरी सब्जी और जलेबी की दुकान चलाते हैं।उनका कहना है कि वो 4 बजे सुबह से ही अपनी दुकान की सफाई में लग जाते है क्योंकि 1 घंटे से अधिक समय दुकान की सफाई में ही लग जाता है।सारे बर्तन एक दम साफ होने चाहिए क्योंकि बनारस की मान्यता है कि पहली पूरी सब्जी भगवान को चढ़ती है।

सालो से चलती आ रही है दुकानें:-

रमेश का कहना है कि उनकी दुकान 50 वर्ष पुरानी है।मतलब वो उनकी पुस्तैनी दुकान है।साथ ही साथ रमेश ये भी कहते है को हमारी दुकान पुस्तैनी होने के साथ साथ ग्राहक भी पुस्तैनी है क्योंकि पहले उनके दादा जी आते थे फिर पिताजी फिर वो खुद आ रहे है।तब से अब तक यही सिलसला चलते आ रहा है नही बदली वो है हमारे दुकान के पूरी सब्जी का स्वाद और हमारी कोशिश है कि वो कभी न बदले।

रमेश के दुकान की मिक्स सब्जी बहुत पसंद की जाती हैं।मिक्स सब्जी में रमेश कभी चना,कोहरा,आलू,मटर डाल के सब्जी बनाते है तो कभी चना,पालक और बैगन डाल के मिक्स सब्जी बनाते हैं जिससे ग्राहक और भी आकर्षित होते है उनकी दुकान की तरफ़।

सब्जी की ही तरह रमेश के दुकान में कचौरी बनाने की भी अलग विधि है।जलेबी,कचौड़ी और सब्जी रमेश की दुकान में उनका पूरा परिवार मिल के बनाता है।इस कोरोना महामारी में रमेश ने अपने दुकान में साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखा हैं।साथ ही साथ उनकी कोशिश ये रहती है कि कोई ज्यादा देर तक दुकान पे ना रुके।

कचौड़ी गली है प्रसिद्ध:-

बनारस में कचौड़ी गली बहुत ही प्रशिद्ध है।जिसके बगले में ही मणिकर्णिका शमशान घाट है।इसलियर यहाँ 24 घंटे कचौड़ी सब्जी मिलती हैं।जो लोग भी घाट पर आते है दाह संस्कार करने।वो दाह संस्कर करने के बाद कचौड़ी गली जाते हैं।कचौड़ी सब्जी खाने।कचौड़ी गली दिन रात ग्राहकों से भरी रहती हैं।

काम करने वाले रवि का कहना है की जब वो पहली बार दुकान पर थे और कुछ लोग दाह संस्कार करने के बाद हँस-हँस कर कचौड़ी सब्जी खा रहे थे और मांग रहे थें।तो मेरे मन मे ये बात आया कि कैसे लोग है परन्तु समय के साथ मैं भी सबके साथ घुल-मिल गया।क्योंकि यही तो जिंदगी है।

बनारस में आपको हर सुबह हर गली में कचौड़ी,सब्जी और पूरी मिलती है।बनारस की सारी दुकानों में सुबह-सुबह यही नास्ता मिलेगा आपको।कुछ दुकाने जो अधिक प्रशिद्ध है उन दुकानों में तो लंबी लाइन लगती है कचौड़ी,सब्जी और पूरी खाने के लिए।

Kheti trend अपने पाठकों से भी आग्रह करता है कि एक बार समय निकाल के जरूर बनारस जाएं।और भगवान के दर्शन करने के साथ-साथ कचौड़ी, सब्जी,पूरी,जलेबी जरूर खाएं।क्योंकि इसके बिना आपकी बनारस यात्रा अधूरी है।

अनामिका बिहार के एक छोटे से शहर छपरा से ताल्लुकात रखती हैं। अपनी पढाई के साथ साथ इनका समाजिक कार्यों में भी तुलनात्मक योगदान रहता है। नए लोगों से बात करना और उनके ज़िन्दगी के अनुभवों को साझा करना अनामिका को पसन्द है, जिसे यह कहानियों के माध्यम से अनेकों लोगों तक पहुंचाती हैं।

25 COMMENTS

  1. Simply desire to say your article is as amazing.
    The clearness in your post is just spectacular and i
    could assume you’re an expert on this subject. Fine with your permission allow me to grab your RSS
    feed to keep updated with forthcoming post. Thanks a million and please continue the enjoyable work.

  2. The breaking of the bank does not deprive the banker of the correct to continue, provided that they have funds with which to replenish it, up to
    the agreed minimum.

    Here is my blog: German

  3. Kaliteli hizmeti ve ünlü DJ’ler tarafından verilen konserleri ile eğlence dolu akşamlar burada konukları beklemektedir.
    Konser verildiği günlerde rezervasyon yaptırmanız önerilmektedir.
    Gündüz 12’de açılan mekan gece 12 sularında hizmetine son vermektedir.

    Adres: Hoşnudiye Mahallesi, Vural Sk. No:35, 26000 Tepebaşı.

  4. The phase IV clinical study analyzes which people take
    Bentyl and have Withdrawal syndrome. It is created by eHealthMe based on reports
    of 9,370 people who have side effects when taking Bentyl
    from the FDA, and is updated regularly. You
    can use the study as a second opinion to make health care decisions.
    Phase IV trials are used to detect.

  5. Hello very nice web site!! Guy .. Excellent .. Wonderful .. I’ll bookmark your web site and take the feeds also?KI’m happy to search out a lot of helpful information here within the put up, we need work out more strategies in this regard, thanks for sharing. . . . . .

  6. Oh my goodness! Impressive article dude! Many thanks, However I am going through problems with your RSS. I don’t understand why I can’t join it. Is there anyone else getting similar RSS problems? Anyone that knows the answer can you kindly respond? Thanx!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here